fbpx
ख़बरेंराज्य/जिलावाराणसी

बीएचयू से फिर गायब हुआ कोरोना मरीज, थाने पहुंचा मामला


वाराणसी। अपनी उच्चस्तरीय चिकित्सा सेवाओं के लिए विख्यात बीएचयू का चिकित्सा विभाग कोरोना काल में लापरवाही का केंद्र बन चुका है। बीएचयू अस्पताल में एक बार फिर लापरवाही का मामला सामने आया है। कोविड वार्ड से भर्ती एक मरीज अचानक लापता हो गया। बहरहाल बीएचयू प्रशासन ने लंका थाने को सूचित कर दिया है।
मऊ जनपद के भटकौल गांव निवासी व्यक्ति को 23 सितंबर को बीएचयू के कोविड वार्ड में भर्ती किया गया। लेकिन 26 को वो व्यक्ति वहा से अचानक गायब हो गया। जिसकी सूचना बीएचयू अस्पताल ने लिखित तौर पर स्थानीय थाने को दे दी है। अभी बीएचयू की ओर से कोई आधिकारिक बयान नही आया है।

कोरोना काल में चर्चा में बीएचयू अस्पताल

12 अगस्त कोरोना की वजह से एडिशनल सीएमओ डाक्टर जंगबहादुर की मौत हो गई थी। कोरोना संक्रमित होने के कारण शव को देखने की इजाजत परिजनों को नहीं थी। परिजन डेडबॉडी लेकर दाह संस्कार करने हरिश्चंद्र घाट पहुंचे। दाह संस्कार के दौरान एक और परिवार पहुंचा और लाश की अदला-बदली की बात बताई। परिवार ने जब अधजली लाश का चेहरा देखा तो होश उड़ गए। शव गाजीपुर के केशव श्रीवास्तव का था।

कोरोना मरीज को चोट लगने के बाद 12 अगस्त को परिजनों ने ट्रामा सेंटर में भर्ती कराया था।15 अगस्त को कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट आने के बाद सुपरस्पेशियलिटी काम्प्लेक्स के कोविड वार्ड में शिफ्ट कर दिया गया था। जहां दूसरे तल पर बेड नंबर 26 में भर्ती था। कुछ दिनों बाद अस्पताल स्टॉफ ने परिजनों को मरीज के गायब होने की सूचना दी। इसके बाद लंका पुलिस को तहरीर भी दी गई। इसके बाद मरीज का शव कैम्पस में ही मिला।

फूलपुर थाने के बाबतपुर क्षेत्र के कैथोली गांव निवासी युवक को मानसिक बीमारी को लेकर 16 अगस्त को बीएचयू के आपातकालीन वार्ड में भर्ती कराया गया था। इस दौरान युवक की कोविड-19 जांच रिपोर्ट में उसके संक्रमित होने का पता चला। जिसके बाद कोविड-19 अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उसने 23 अगस्त को देर रात चैथी मंजिल से कूद के आत्महत्या कर लिया।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button