fbpx
चंदौलीराजनीतिराज्य/जिला

स्वामी प्रसाद मौर्य के सपा में शामिल होने से चंदौली में भी बदलेंगे राजनीतिक समीकरण

चंदौली। बसपा से भाजपा और अब सपा। ये हैं स्वामी प्रसाद मौर्य। बीजेपी में कैबिनेट मंत्री रहे दिग्गज नेता स्वामी प्रसाद मौर्य ने चुनाव से ठीक पहले सपा ज्वाइन कर ली है। इस सियासी बदलाव का असर चंदौली में भी देखने को मिल सकता है। चकिया और सैयदराजा विधान सभा में राजनीतिक परिदृश्य बदलने के कयास लगाए जा रहे हैं।

चकिया विधायक की स्वामी प्रसाद मौर्य से करीबी
चकिया से बीजेपी विधायक शारदा प्रसाद को स्वामी प्रसाद मौर्य का अत्यंत करीबी माना जाता है। पिछले चुनावों के दौरान जब स्वामी प्रसाद मौर्य बसपा छोड़ भाजपा में शामिल हुए तो शारदा प्रसाद ने भी उनके साथ बीजेपी ज्वाइन कर ली। तब भाजपा ने स्वामी प्रसाद मौर्य के करीबियों को टिकट दिया था और इसी समझौते के तहत शारदा प्रसाद को चकिया से उम्मीदवार बनाया गया। माना जा रहा है कि बीजेपी से दोबारा टिकट नहीं मिलने की स्थिति में शारदा प्रसाद भी बीजेपी को बाय-बाय बोलकर स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ जा सकते हैं। ऐसे में चकिया विधान सभा में राजनीतिक समीकरण उलट पुलट हो सकते हैं। सपा से टिकट के लिए जोर लगा रहे नेताओं की धुकधुकी भी बढ़ गई है।

सैयदराजा विधान सभा से टिकट की दावेदारी कर रहे सुधाकर मौर्य भी गदगद
सैयदराजा विधान सभा से टिकट के लिए जोर आजमाइश कर रहे सुधाकर मौर्य की बांछें भी खिल गई हैं। समाजवादी लोहिया वाहिनी के राष्ट्रीय सचिव सुधाकर मौर्य भी खुद को स्वामी प्रसाद मौर्य का करीबी बताने लगे हैं। अपनी निकटता को दिखाने के लिए उन्होंने स्वामी प्रसाद मौर्य के साथ की पुरानी तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा की हैं। हालांकि पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू को अभी भी सैयदराजा विधान सभा से टिकट का सबसे तगड़ा दावेदार माना जा रहा है।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Back to top button