fbpx
चंदौलीराजनीतिराज्य/जिला

डीएम कार्यालय पर उमड़ा ग्रामीणों का हुजूम, प्रधान के समर्थन में प्रदर्शन

चंदौली। न्याय के लिए एक महिला ग्राम प्रधान ने अधिकारियों के दफ्तर में खूब एड़ियां रगड़ीं। लेकिन उनकी बात नक्कारखाने में तूती की आवाज बनकर रह गई। अंत में चकिया क्षेत्र के बियासड़ गांव के लोग अपने प्रतिनिधि के समर्थन में उतर आए। सैकड़ों की संख्या में एकजुट ग्रामीणों ने सोमवार को प्रधान के नेतृत्व में कलेक्ट्रेट पर प्रदर्शन किया। प्रधान चंदा देवी ने जिलाधिकारी को ज्ञापन सौंपते हुए पति पर लादे मुकदमे की जांच और विपक्षियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।
ग्राम प्रधान चंदा पांडेय का आरोप है कि जब-जब गांव में विकास कराना चाहती हैं एक परिवार के लोग हस्तक्षेप करते हैं। काम में रुकावट पैदा करते हैं। ग्राम पंचायत की जमीन में नाबदान का पानी बहाते हैं। मना करने पर झगड़ा करने पर आमादा रहते हैं। इस संबंध में उपजिलाधिकारी को पत्रक भी दिया गया। विपक्षियों ने पंचायत भवन और प्राथमिक विद्यालय को भूमि को अपना बताते हुए पति के विरुद्ध झूठा मुकदमा दर्ज दर्ज करा दिया। यही नहीं विपक्षी महिला जो उसी गांव के प्राथमिक विद्यालय पर सहायक अध्यापक हैं उन्होंने महिला होने का गलत फायदा उठाते हुए ग्राम प्रधान के पति और नौ अन्य लोगों पर छेड़खानी, सरकारी कार्य में हस्तक्षेप करने और जान से मारने की धमकी देने का बेबुनियाद मुकदमा चकिया थाने में दर्ज करा दिया। ग्राम प्रधान ने एसपी को प्रार्थना पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। ग्रामीणों ने मामले की सक्षम अधिकारी से जांच कराकर उचित कार्रवाई की मांग की है। चेताया कि कार्रवाई नहीं होने पर ग्रामीण आंदोलन को बाध्य होंगे।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!