fbpx
ख़बरेंचंदौलीराज्य/जिला

chandauli news: पीडब्ल्यूडी के गले की फांस बन गया मुगलसराय चकिया रोड निर्माण का भूमिपूजन कार्यक्रम, निमंत्रण नहीं मिलने पर नाराज हुए बीजेपी विधायक, विभाग को देनी पड़ी सफाई

दो सौ करोड़ की अनुमानित लागत से बनने वाले मुगलसराय चकिया रोड निर्माण का भूमिपूजन कार्यक्रम लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के गले की फांस बन गया। कार्यक्रम का निमंत्रण नहीं मिलने से नाराज स्थानीय विधायक ने आलाधिकारियों की कायदे से खबर ली। इसके बाद महकमे में खलबली मच गई।
  • मुगलसराय चकिया रोड निर्माण का भूमिपूजन कार्यक्रम लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के गले की फांस बन गया
  • कार्यक्रम का निमंत्रण नहीं मिलने से नाराज स्थानीय विधायक ने आलाधिकारियों की कायदे से खबर ली
  • छात्रशक्ति इंफ्रा लिमिटेड की ओर से इसका निर्माण कराया जाएगा
  • लोक निर्माण विभाग ने आनन-फानन में पत्र जारी करते हुए इस आयोजन से पल्ला झाड़ लिया

चंदौली। दो सौ करोड़ की अनुमानित लागत से बनने वाले मुगलसराय चकिया रोड निर्माण का भूमिपूजन कार्यक्रम लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों के गले की फांस बन गया। बुधवार को निर्माण एजेंसी छात्र शक्ति इंफ्रा लिमिटेड ने भूमिपूजन किया। प्रभावशाली विधायक उमाशंकर सिंह के संरक्षण वाली इस कंपनी के कार्यक्रम में पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष सहित कई स्थानीय नेता और विभाग के अधिकारी शामिल हुए। कार्यक्रम का निमंत्रण नहीं मिलने से नाराज स्थानीय विधायक ने आलाधिकारियों की कायदे से खबर ली। इसके बाद महकमे में खलबली मच गई। लोक निर्माण विभाग ने आनन-फानन में पत्र जारी करते हुए इस आयोजन से पल्ला झाड़ लिया साथ ही इसे निर्माण कंपनी का व्यक्तिगत कार्यक्रम बताते हुए जनप्रतिनिधियों की मौजूदगी में कार्यक्रम कराने की बात कही

200 करोड़ की लागत से बननी है सड़क
जिले की अतिव्यस्त व प्रमुख मार्ग माने जाने वाले चकिया-मुगलसराय मार्ग अब फोरलेन होगा। 200 करोड़ की लागत से डबल लेन सड़क चार लेन होगी। छात्रशक्ति इंफ्रा लिमिटेड की ओर से इसका निर्माण कराया जाएगा। चकिया से पीडीडीयू नगर को जोड़ने वाले चकिया-मुगलसराय मार्ग पर ट्रैफिक रहता है। पहले यह सड़क सिंगल लेन थी। इसका चौड़ीकरण कर डबल लेन किया गया। फिलहाल मार्ग पर वाहनों के दबाव को देखते हुए फोरलेन की मांग काफी दिनों से की जा रही थी। शासन ने फोरलेन प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान कर दी। वहीं कार्यदायी संस्था का चयन भी कर लिया गया है। शासन स्तर से बजट जारी कर दिया गया है। निर्माण एजेंसी की ओर से बुधवार को भूमिपूजन किया गया। बीजेपी विधायक रमेश जायसवाल को इसकी सूचना नहीं दी गई। मीडिया में खबर प्रसारित होने के बाद जब विधायक को इसकी जानकारी हुई तो वे खासे नाराज हुए। विभाग के आलाधिकारियों सहित जिलाधिकारी तक अपनी शिकायत पहुंचाई। इसके बाद महकमा हरकत में आया और पत्र जारी कर कार्यक्रम में अपना पल्ला झाड़ लिया।

Back to top button
error: Content is protected !!