fbpx
चंदौलीराज्य/जिलाशिक्षा

चंदौली बीएसए ने 37 शिक्षकों के खिलाफ की कार्रवाई, तीन विद्यालयों पर लटका था ताला

चंदौली। कोरोना काल में लेबे समय तक बंद रहने के बाद विद्यालय खुले तो शिक्षकों की लापरवाही शिकायतें सामने आने लगीं हैं। बेसिक शिक्षा अधिकारी भोलेंद्र प्रताप सिंह ने खंड शिक्षा अधिकारियों की संतुति पर 25 फरवरी को विद्यालयों में अनुपस्थित मिले प्रधानाध्यापक , सहायक अध्यापक समेत 37 शिक्षकों का एक दिन वेतन काटते हुए अग्रिम आदेश तक वेतन पर रोक लगा दी है। सभी शिक्षकों से एक सप्ताह में अपना स्पष्टीकरण देने को कहा गया है।

खंड शिक्षा अधिकारियों ने अपने-अपने क्षेत्र के विद्यालयों का औचक निरीक्षण किया था। चहनियां क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय महरखा, कुरहना व जलालपुर पर ताला लटका पाया गया। बीएसए ने तीनों विद्यालय के 18 शिक्षकों का एक दिन का वेतन काटने व वेतन भुगतान पर रोक लगा दी। सकलडीहा के कंपोजिट विद्यालय साई में प्रधानाध्यापक माया अनुपस्थित मिलीं। हिनौली प्राथमिक विद्यालय में रामाशीष, जहीरुद्दीन, बाबर, शिल्पी गुप्ता, रेनू सिंह, दीपिका, अंजू, सुनीता और आशा अनुपस्थित मिलीं। एक दिन का वेतन कटा, सहजोर प्राथमिक विद्यालय में दिनेश नारायण, शिवानी, रजनीगंधा, प्रभा, मीनाक्षी, रविकांत, संदीप कुमार अनुपस्थित मिले। इनका एक दिन का वेतन काटने के साथ अग्रिम आदेश तक वेतन अवरुद्ध करने का निर्देश दिया गया है। बीएसए ने कहा कि एक मार्च से कक्षा एक से पांच तक के विद्यालय भी खुल रहे हैं। ऐसे में सभी शिक्षक कोविड-19 की गाइड का अनुपालन करते हुए समय से विद्यालय पहुंचें। खंड शिक्षाधिकारियों को निर्देश दिया है कि अपने-अपने क्षेत्र के विद्यालयों का निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button