fbpx
Uncategorizedचंदौली

चंदौली: अनुसूचित जाति के लोगों के लिए स्वरोजगार का अच्छा मौका, समाज कल्याण विभाग दिलाएगा अनुदान, करें आवेदन

चंदौली। अतिपिछड़े जिले में अनुसूचित जाति के लोगों के लिए अच्छा मौका है। समाज कल्याण विभाग की ओर से पात्रों के लिए स्वरोजगार संबंधी कई योजनाएं संचालित की जा रही हैं। इस पर अच्छा-खासा अनुदान व ब्याजमुक्त ऋण दिलाया जा रहा है। इसकी बदौलत पात्र व्यक्ति स्वरोजगार कर आत्मनिर्भर बन सकते हैं।

 

क्या है मानक

अनुसूचित जाति के ऐसे व्यक्ति, जिनकी शहरी क्षेत्र में वार्षिक आय 56460 रुपये और ग्रामीण क्षेत्र में 46080 रुपये है। वे समाज कल्याण विभाग से संचालित योजनाओं के लिए आवेदन कर सकते हैं।

 

पंडित दीनदयाल उपाध्याय स्वरोजगार योजना

इस योजना के तहत 20 हजार से लेकर 15 लाख तक ऋण उपलब्ध कराया जाता है। इस पर परियोजना लागत का (25 फीसद मार्जिन मनी) व चार फीसद ब्याज पर मिलेगा। इसमें लाभार्थी को 10 हजार रुपये अनुदान भी मिलेगा।

 

नई टेलरिंग शाप योजना

इस योजना के तहत 20 हजार की लागत तक की परियोजना शुरू की जा सकती है। इसमें 10 हजार रुपये शासकीय अनुदान व 10 हजार ब्याज मुक्त ऋण के रूप में उपलब्ध कराया जाएगा। लाभार्थी को 36 समान किस्तों में ऋण की अदायगी करनी होगी।

 

दुकान निर्माण योजना

आवेदक के पास स्वयं की 13.32 वर्ग मीटर जमीन होनी चाहिए। यहां स्वरोजगार के लिए 10 हजार रुपये अनुदान व 68 हजार रुपये का ब्याजमुक्त ऋण मुहैया कराया जाएगा। लाभार्थी को 10 साल में कर्ज चुकाना होगा।

 

लांडी व ड्राई क्लीनिंग योजना

इस योजना के तहत लाभार्थी एक लाख अथवा 2.16 लाख रुपये तक की लागत की परियोजना स्थापित कर सकता है। एक लाख की परियोजना में 10 हजार शासकीय अनुदान व 90 हजार रुपये ब्याज मुक्त ऋण के रूप में दिए जाएंगे। इसी तरह 2.16 लाख की परियोजना में 10 हजार शासकीय अनुदान व 2.06 लाख रुपये ब्याज मुक्त ऋण दिलाया जाएगा। इसकी अदायगी 60 समान किस्तों में करनी होगी।

 

दफ्तर में जमा कराएं आवेदन

जिला समाज कल्याण अधिकारी नागेंद्र कुमार मौर्या ने बताया कि योजनाओं का लाभ लेने के ईच्छुक अभ्यर्थियों को अनुसूचित जाति का प्रमाणपत्र, आय प्रमाणपत्र, आधार कार्ड, बैंक पासबुक की छाया प्रति संलग्न कर आवेदन पत्र किसी भी कार्यदिवस में मुख्यालय स्थित कार्यालय में जमा कराना होगा। वहीं ग्रामीण इलाके के लोग ब्लाक कार्यालय में एडीओ समाज कल्याण को आवेदन उपलब्ध करा सकते हैं। आवेदन के सत्यापन के बाद योजनाओं के लिए लाभार्थियों का चयन किया जाएगा।

 

Related Articles

Back to top button