ख़बरेंचंदौलीराज्य/जिला

सड़क ने खोली नगर पालिका के भ्रष्टाचार की कलई, सभासद मुखर, ठेकेदार बीजेपी का वरिष्ठ नेता

चंदौली। चेयरमैन भी बीजेपी समर्थित और ठेकेदार बीजेपी का वरिष्ठ पदाधिकारी और पूर्व जिलाध्यक्ष नतीजा नगर पालिका परिषद पीडीडीयू नगर में तकरीबन 60 लाख रुपये की लागत से बन रही पक्की सड़क भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ती जा रही है। पांच वार्डों से जड़ी तकरीबन सवा दो किमी लंबाई की यह सड़क अभी पूरी बनी भी नहीं कि उखड़ने लगी है। भ्रष्टाचार के तारकोल ने गिट्टी का साथ छोड़ दिया हैै। मजेदार यह कि सभासदों की शिकायत पर जांच करने पहुंचे नगर पालिका के जेई ने दबाव में गुणवत्ता को क्लीन चिट दे दी। लेकिन इस सड़क से वार्डों के सभासद भ्रष्टाचार के खिलाफ कमरकस कर मुखर हो चुके हैं। बुधवार से ही काम रोकवा दिया है। पालिका को दो टूक चेतावनी दी है कि या तो निर्माण कार्य का भुगतान नहीं होगा या सड़क दोबारा कायदे से बनाई जाएगी। सभासदों के तेवर से सहमे चेयरमैन ने इसकी जांच कराने और गुणवत्तापरक निर्माण कराने का आश्वासन दिया है।

यह भी पढेंः चेहरे से उतर गया शराफत का नकाब, जुआ खेलते पकड़े गए ये रसूखदार


नगर पालिका पीडीडीयू नगर में वार्ड संख्या दो से कैथापुर तक तकरीबन सवा दो किमी लंबी सड़क की मरम्मत के लिए तकरीबन 55 से 60 लाख रुपये का बजट आवंटित हुआ है। निर्माण कार्य दो ठेकेदारों के जिम्मे है जिसमें एक भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारी और पूर्व जिलाध्यक्ष हैं। अधिकांश कार्य इन्हीं को कराना है। दिवाली के आस-पास सड़क की मरम्मत शुरू करा दी गई। गुणवत्ता इतनी खराब कि यह उखड़ने भी लगी है। लोगों ने शिकायत की तो सभासद मुखर हो गए। पालिका में शिकायत की तो जेई पहुंचे और उन्हें निर्माण में कोई खामी नहीं नजर आई। लेकिन भ्रष्टाचार के खिलाफ कमर कस चुके सभासदों ने बुधवार को काम रोकवा दिया।

यह भी पढेंः मुगलसराय स्टेशन हुआ गुलजार तो पटरी पर लौट आया भ्रष्टाचार

सभासद विनय यादव, माया देवी, शुभम भारती का आरोप है कि खड़क की गुणवत्ता काफी खराब हैं। शिकायत पर भी ध्यान नहीं दिया जा रहा है। लेकिन जब तक गुणवत्ता में सुधार नहीं होगा और दोबारा मरम्मत नहीं करवाई जाएगी काम नहीं होने दिया जाएगा। हालांकि सभासद सशंकित भी है कि ठेकेदार सत्ता पक्ष से जुड़े हैं तो शायद ही उनकी बातों को सुना जाए।

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!