fbpx
क्राइमचंदौलीराज्य/जिला

चंदौलीः मोबाइल टावरों से रंगदारी वसूलने का खेल पुराना, जिला पंचायत सदस्य के भाई की हुई थी हत्या

चंदौली। गांव-गांव मोबाइल टावर लगने शुरू हुए तो संचार की दुनिया में नई क्रांति आ गई। ग्रामीण क्षेत्रों में भी मोबाइल फोन घनघनाने लगे। लेकिन माफियाओं ने इस बदलाव को अपने लिए अवसर में बदल लिया। टावरों को चलाने के लिए लगे जेनरेटरों से तेल चोरी के खेल में माफिया सीधे अपनी हिस्सेदारी लेने गए। मोबाइल टावर कंपनियों को चूना लगता रहा और माफिया मालामाल होते चले गए। धीरे-धीरे तेल चोरी के इस खेल ने अवैध कारोबार का रूप ले लिया। पहले तो छुटभैये बदमाश इसमें शामिल थे लेकिन पैसा बरसने लगा तो बड़े माफियाओं ने भी इसमें रुचि दिखानी शुरू कर दी। इसके बाद माफिया गिरोह ने अपने-अपने क्षेत्र बांट लिए और तय हुआ कि कोई एक दूसरे के इलाके में नहीं दखल नहीं देगा। यानी जिसका क्षेत्र वहीं मोबाइल टावरों से रंगदारी वसूलेगा। कंपनी से जुड़े कुछ अधिकारी और कर्मचारी अपने फायदे के लिए तो कुछ माफियाओं के डर से इस धंधे में शामिल हुए। तब से यह खेल लगातार चल रहा है। पुलिस की सुस्ती से माफियाओं की पकड़ तेल चोरी के धंधे में और मजबूत हो गई है।

जिला पंचायत सदस्य के भाई की हुई थी हत्या
चंदौली जिले में भी मोबाइल टावरों से रंगदारी वसूलने और तेल चोरी का खेल पुराना है। इंडस टावर कंपनी के जेई के अपहरण और इसमें सत्ता पक्ष के जिला पंचायत सदस्य का नाम सामने आने के बाद एक दशक पहले हुए हत्याकांड की तस्वीर जेहन में ताजा हो गई है। वर्तमान जिला पंचायत सदस्य गोपाल सिंह बबबू के छोटे  भाई राजकुमार की इसी मामले को लेकर हत्या कर दी गई थी। मोबाइल टावर में तेल भरने को लेकर राजकुमार की तत्कालीन छात्रसंघ महामंत्री राकेश सिंह डब्बू से लड़ाई हुई। राजकुमार ने डब्बू सिंह की इतनी पिटाई की कि वह महीनों तक अस्पताल में रहा। बाद में राजकुमार सिंह का अपहरण और बाद में हत्या कर दी गई। इसमें छात्रनेता राकेश सिंह डब्बू उसके बहनोई कुंदन सिंह, सुभाषनगर की वर्तमान सभासद आरती यादव के पति श्रवण यादव सहित आधा दर्जन लोग आरोपित बनाए गए और पुलिस ने उन्हें जेल भेज दिया। इस घटना के बाद से माफिया गिरोहों के बीच खून खराबे की आशंका जताई जा रही थी। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ और दोनों पक्षों ने आपस में समझौता कर लिया। तब से रंगदारी का यह खेल कभी पटल पर नहीं आया और चेारी-छिपे चलता रहा। लेकिन इंजीनियर के अपहरण के बाद मामला एक बार फिर सुर्खियों में है।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!