fbpx
Uncategorized

Chandauli News : BJP ने आपातकाल के विरोध में मनाया काला दिवस, लोकतंत्र रक्षक सेनानियों को किया सम्मानित

चंदौली। भाजपा कार्यकर्ताओं ने मंगलवार को आपातकाल के विरोध में मुख्यालय स्थित पार्टी कार्यालय में काला दिवस मनाया। 25 जून 1975 को ही देश में आपातकाल लागू किया गया था। उस दौरान लोकतंत्र का गला घोंट दिया गया। तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने देश के संविधान व लोकतंत्र को बंधक बना लिया था।

 

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि प्रदेश मंत्री एवं जिला प्रभारी अनामिका चौधरी ने कहा कि 25 जून 1975 को तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने देश पर आपातकाल थोप दिया। उन्होंने कहा कि भारत के मजबूत लोकतंत्र में आपातकाल एक कभी ना भूला जाने वाला काला अध्याय है। आपातकाल लागू होने के अगले 21 महीने में तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने देश के लोकतंत्र और संविधान को बंधक बना लिया था। जनता, मीडिया और विपक्ष के नेताओं पर अनगिनत अत्याचार किए गए। इस दौरान नागरिक अधिकारों को खत्म कर दिया गया था। जिलाध्यक्ष काशीनाथ सिंह ने कहा कि 25 जून 1975 के बारे में पढ़कर मन में भय उत्पन्न हो जाता है। 25 जून को भारत के लोकतंत्र पर लगे उस कलंक के 50 वर्ष पूरे हो रहे हैं। भारत की नई पीढ़ी कभी नहीं भूलेगी कि भारत के संविधान को पूरी तरह से नकार दिया गया था। संविधान के हर हिस्से की धज्जियां उड़ा दी गई थीं। देश को जेल खाना बना दिया गया था, लोकतंत्र पूरी तरह से दबा दिया गया था। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय जवाहरलाल नेहरू ने 16 बार, इंदिरा गांधी ने 31 बार, राजीव गांधी ने 11 बार, सोनिया गांधी ने 6 बार संविधान बदला। अब शहजादे संविधान बचाओ का नारा लेकर निकले हैं। अन्त में लोकतंत्र रक्षक सेनानियों को अंगवस्त्रम से सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में पूर्व जिलाध्यक्ष राणा प्रताप सिंह, उमाशंकर सिंह, तेज प्रताप, हरिचरण सिंह, जितेन्द्र पांडेय, हरिवंश उपाध्याय, शिवराज सिंह, प्रेम चन्द, किशोरी, जैनेन्द्र कुमार, राकेश मिश्रा, राजेश सिंह, जय गोविन्द, रामनिवास पाण्डेय, नन्दलाल, किरन शर्मा, आशीष गुप्ता, प्रेमनारायण सिंह, रंजय पाण्डेय, आशुतोष सिंह, सागर कन्नौजिया आदि रहे।

Back to top button
error: Content is protected !!