fbpx
ख़बरेंचंदौलीराज्य/जिला

चंदौली का रेलवे ओवरब्रिज बनकर तैयार, कल जनता को समर्पित करेंगे केंद्रीय मंत्री, जानिए पुल की खासियत

चंदौली। जनपदवासियों की एक बड़ी समस्या का सोमवार को निदान हो जाएगा। जिला मुख्यालय पर पूरी तरह से बनकर तैयार रेलवे ओवर ब्रिज से आवागमन शुरू हो जाएगा। भारी उद्योग मंत्री व सांसद डाक्टर महेंद्रनाथ पांडेय 33.47 करोड़ की लागत से निर्मित 632 मीटर लंबे अटल बिहारी सेतु का लोकार्पण करेंगे। पुल पर पहले बाइक व चार पहिया वाहनों को आने-जाने की अनुमति रहेगी। 15 दिन का ट्रायल पूरा होने के बाद ट्रक, बस और भारी वाहन चलेंगे।

प्रदेश में भाजपा की सरकार बनने के बाद आरओबी निर्माण की मंजूरी मिली थी। इसके लिए 2018 में भूमि पूजन किया गया था। निर्माण के लिए तय समय सीमा जनवरी 2019 तक निर्धारित थी, लेकिन कोरोना की वजह से निर्माण कार्य बाधित रहा। काफी जद्दोजहद 31 दिसंबर को पुल बनकर तैयार हो गया। 632.68 मीटर लंबे टू लेन रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण 33.47 करोड़ की लागत से कराया गया है। रेलवे ट्रैक के ऊपर 60 मीटर तक बिना किसी सपोर्टिंग पिलर के स्लैब ढाला गया है। इसके लिए बो-स्ट्रींगर पद्धति का इस्तेमाल हुआ है। सेतु निगम के डीपीएम अनिरुद्ध कुमार ने बताया कि ऊपर से लगाए गए भारी-भरकम स्ट्रींगर के सहारे स्लैब टिका रहेगा। यह बेहतर और टिकाऊ तकनीकी है। बताया कि उद्घाटन के बाद बाइक और चार पहिया वाहनों का आवागमन शुरू हो जाएगा, लेकिन 15 दिनों तक ट्रायल होगा। इसके बाद भारी वाहनों के आवागमन की अनुमति होगी। सेतु निगम के अधिकारी-कर्मचारी लोकार्पण की तैयारी में जुटे रहे। साइड वाल की पेंटिंग के साथ ही पुल को गेंदे के फूल की 2500 मालाओं से सजाने का काम जारी रहा।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!