fbpx
ख़बरेंचंदौलीराज्य/जिला

चंदौली में किसान ही खड़ी कर रहे किसानों के लिए परेशानी, खेतों तक कैसे पहुंचेगा नहरों का पानी

तरुण भार्गव

चंदौली। सूखे जैसे हालात का सामना कर रहे जिले में किसान ही किसानों के लिए परेशानी खड़ी कर रहे हैं।  कहीं नहरों को काटकर तो कहीं तिरपाल लगाकर नहरों का पानी रोका जा रहा है। इससे टेल के किसानों तक पानी नहीं पहुंच पा रहा। चकिया तहसील क्षेत्र के ढन्नू रामपुर गांव के पास गोविंदपुर रजवाहा नहर की पटरी को काटकर अवैध तरीके से खेतों की सिंचाई की जा रही है। जिससे नहर में छोड़ा गया पानी टेल तक नहीं पहुंच पा रहा। पटरी के काटे जाने से ढलान की ओर बनी बस्तियां डूब जा रही हैं। ऐसा ही चलता रहा तो स्थिति और खराब हो सकती है।
गोविंदपुर रजवाहा में कुछ दिनों पूर्व कतिपय किसानों द्वारा नहर की पटरी को काटकर पानी का रुख मोड़ दिया गया था। सिंचाई विभाग के अधिकारियों ने आनन-फानन में नहर की पटरी को दुरुस्त करा कर वैकल्पिक व्यवस्था कर दी साथ ही किसानों से अपील की थी कि इस तरह अवैध कटिंग से किसानों का ही नुकसान होगा। इसके बावजूद ढन्नू रामपुर गांव के पास गोविंदपुर रजवाहा नहर की पटरी को काट दिया गया है जिससे पानी की आस लगाए अंतिम छोर पर बसे हुए गांव के किसानों को निराश होना पड़ रहा है। विभाग के जेई राकेश तिवारी ने किसानों से अपील की है कि वे व्यक्तिगत लाभ के लिए नहर की पटरी को ना काटें अन्यथा इसका खामियाजा किसानों को ही उठाना पड़ सकता है। जगह-जगह नहर काटी जाएगी तो विभाग मरम्मत नहीं करा पाएगा। किसान विकास मंच के संयोजक व किसान राम अवध सिंह ने भी किसानों से नहर की पटरी नहीं काटने की गुजारिश की है।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Back to top button