fbpx
संस्कृति एवं ज्योतिष

Dainik Rashifal : इन राशियों को व्यापार में होगा जबरदस्त लाभ, जानिए अपना राशिफल

Horoscope 17 September 2023 : आज दिनांक 17 जून और दिन रविवार (Sunday Ka Rashifal) है। ज्योतिष में ग्रहों की चाल से शुभ और अशुभ घड़ियां बनती हैं, जो हमारे जीवन पर सकारात्मक और नकारात्मक प्रभाव डालती है। आइये जानते हैं, सभी 12 राशियों के आज के सितारे (Aaj Ka Rashifal) और कैसा रहेगा आज का आपका दिन।

मेष- (Aries)

व्यवस्थित, परिस्थितियां अनुकूल, मित्रों से सहयोग, लाभ का सुयोग भी, शेष समय विपरीत, कार्य अधूरे, मान-सम्मान में कमी।

वृषभ- (Taurus)

कार्य-व्यवसाय में सफलता, धर्म में आस्था, मनोरंजन में रुचि, पारिवारिक खुशी, मित्रों से सहयोग, बकाए धन की प्राप्ति, दाम्पत्य जीवन में मधुरता।

मिथुन-(Gemini)

स्वास्थ्य अनुकूल, कार्य प्रगति पर, आमोद- प्रमोद, ज्ञान-विज्ञान में रुचि, संत समागम, नूतन-पुरातन मित्रों से योजना पर विचार-विमर्श, प्रसन्नता।

कर्क- (Crab)

उलझनें, आपसी संबंधों में कट॒ता, क्रोध की अधिकता, धन हानि, कष्ट, शेष समय आशाजनक, सामाजिक गतिविधियों में रुझान।

सिंह- (Leo)

विनियोजित धन का प्रतिफल, परिश्रम के अनुरूप सफलता, शेष समय असंतोषजनक, विवाद की आशंका, उपलब्धि में विलम्ब।

कन्या- (Virgo)

विचाराधीन योजना कार्यरूप में परिणित, आर्थिक उन्नति का मार्ग प्रशस्त, आपसी सलाह से कामयाबी, सामाजिक गतिविधियों की ओर अभिरुचि।

तुला- (Libra)

कठिनाइयों की निवृत्ति, मनोवांछित सफलता का सुयोग, धन की प्राप्ति, आपसी संबंधों में प्रगाढ़ता, धार्मिक कार्य में रुचि, यात्रा प्रसंग, यश में वृद्धि ।

वृश्चिक- (Scorpio)

कार्यों के प्रति उदासीनता, परिस्थितियों में व्यतिक्रम, हानि की आशंका, शेष समय अनुकूल, व्यापार में धन निवेश, सुसमाचार की प्राप्ति।

धनु- (Sagittarius)

सफलता, आरोग्य सुख, व्यावसायिक प्रगति, धन लाभ, शेष समय प्रतिकूल, आर्थिक हानि, पारस्परिक सम्बन्धों में कटुता, यात्रा कष्ट ।

मकर- (Capricorn)

व्यवसायिक अनुकूलता, पारिवारिक कठिनाइयों के निवारण हेतु नवप्रयास आवश्यक, मनोविनोद का सुयोग, श्रेष्ठ जनों के सम्पर्क का सुपरिणाम प्राप्त।

कुम्भ- (Aquarius)

आर्थिक प्रगति, नवयोजना पर मित्रों-स्वजनों से विचार-विमर्श, सुसंदेश की प्राप्ति से हर्ष, मनोरंजन की ओर प्रवृत्ति, संभावित यात्रा सुखद, मन प्रसन्न।

मीन- (Pisces)

उलझनें, व्यापारिक हानि, क्रोध की अधिकता, अपव्यय, शेष समय प्रगतिकारक, अधूरे कार्य बनने की ओर, लाभ का मार्ग प्रशस्त।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!