fbpx
क्राइमचंदौलीराज्य/जिला

चंदौलीः जमानत पर रिहा दहेज हत्या का आरोपी लग्जरी कार से कर रहा था गांजा की तस्करी, दो साथियों के साथ पकड़ाया

चंदौली। धीना पुलिस और क्राइम ब्रांच की टीम ने शुक्रवार की रात चिल्हारी तिराहे के समीप ब्रेजा सवार तीन तस्करों को पकड़ा। कार से 35 किलो गांजा की खेप बरामद की गई। तस्करों में एक सैयदराजा थाना के फेसुड़ा गांव निवासी सतीश सिंह दहेज हत्या के आरोप में आजीवन कारावास काट रहा था। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर जमानत पर रिहा होकर आया था। एसपी ने टीम को शाबाशी दी है।
सीओ राजवीर सिंह ने बताया कि पुलिस चिल्हारी तिराहे के पास शुक्रवार की रात वाहनों की चेकिंग कर रही थी। इसी बीच एक ब्रेजा कार आती दिखी। पुलिस को देखकर चालक कार को घुमाकर वापस भागने का प्रयास करने लगा। संदिग्ध जान पड़ने पर पुलिसकर्मी कार के पीछे दौड़ पड़े और घेरकर रोक लिया। कार की तलाशी ली गई तो छह बंडल में 35 किलो गांजा बरामद हुआ। पुलिस ने कार में सवार तीन लोगों को पकड़ा। उनकी पहचान फेसुड़ा निवासी सतीश सिंह, समरेंद्र सिंह और बिहार प्रांत के भोजपुर जिले के बड़हरा थाना के रहने वाले विक्की प्रसाद के रूप में हुई। सतीश सिंह ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि भाई की पत्नी की हत्या के आरोप में जेल में बंद था। सुप्रीम कोर्ट से जमानत पर रिहा हुआ। इसके अपना व परिवार का पेट पालने के लिए गांजा की तस्करी कर रहा था। उड़ीसा से गांजा लाकर जनपद व आसपास के जिलों में बेचता था। इसके बदले उन्हें अच्छी कीमत मिल जाती थी। उड़ीसा पुलिस ने भी उसे 2019 में पकड़ा था। 27 माह जेल में रहने के बाद छूटकर आया था। बताया कि दीपावली पर गांजा की डिमांड बढ़ गई थी। इसलिए उड़ीसा से लाकर गांवों में फुटकर बेचने की साजिश रची थी। एसपी अंकुर अग्रवाल ने कामयाबी के लिए पुलिस टीम की सराहना की है। पुलिस टीम में एसओ अजीत कुमार सिंह, निरीक्षक राजीव कुमार सिंह, एसआइ सुग्रीव प्रसाद गुप्ता, शिवबाबू यादव, शैलेंद्र प्रताप सिंह समेत आरक्षी शामिल रहे।

 

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!