fbpx
चंदौलीराज्य/जिलाशिक्षा

चंदौली को जल्द मिलेगी ममता की छांव, इन बच्चों के लिए होगी बड़ी सौगात

चंदौली। मानसिक दिव्यांग बच्चों की शिक्षा को लेकर अभिभावकों को चिंता करने की जरूरत नहीं। जिले में जल्द ही नवीन ममता राजकीय मानसिक मंदित आवासीय वि़द्यालय की स्थापना की जाएगी। राज्य सरकार के इसके लिए स्वीकृति दे दी है। अब आगे की प्रक्रिया जमीन की उपलब्धता पर निर्भर है। हालांकि निदेशक दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग ने जिलाधिकारी चंदौली को पत्र लिखकर विद्यालय के लिए निःशुल्क भूमि उपलब्ध कराने की बात कही है। जिले को मिलने वाली यह सौगात भाजपा नेता अरविंद पांडेय के प्रयास और प्रदेश के कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर की पहल का नतीजा है।

ममता विद्यालय से मानसिक दिव्यांग बच्चों को मिलेगी शिक्षा
सकलडीहा विधान सभा के भाजपा नेता अरविंद पांडेय डाक्टर ने विगत वर्ष पिछड़ा वर्ग कल्याण एवं दिव्यांगजन सशक्तिकरण मंत्री अनिल राजभर को पत्र लिखकर मानसिक दिव्यांग बच्चों की समस्या से अवगत कराया था। लिखा था कि उनके गृहजनपद में दिव्यांगों के पठन-पाठन के लिए संस्थान की विशेष व्यवस्था नहीं है। ऐसे में दिव्यांग विद्यालय की स्थापना बेहद जरूरी है। इस समस्या पर फौरी अमल करते हुए संबंधित विभाग ने कार्ययोजना बनाकर स्वीकृति के लिए शासन को भेज दिया। शासन स्तर से इसे स्वीकृति भी प्राप्त हो गई है। 100 बच्चों की क्षमता युक्त मामता राजकीय मानसिक मंदित विद्यालय निर्माण के लिए 3000 वर्ग मीटर भूमि की आवश्यकता होगी। लिहाजा निदेशक दिव्यांगजन सशक्तिकरण विभाग ने डीएम को पत्र लिखकर निःशुल्क भूमि उपलब्ध कराने की अपेक्षा की है।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button