fbpx
ख़बरेंचंदौली

Chandauli News : एक माह से ठप है जलापूर्ति, ग्रामीणों ने जलनिगम दफ्तर पर जड़ा ताला

ग्रामीण बोले, पिछले एक माह से नहीं हो रही पानी की सप्लाई गर्मी में झेलनी पड़ रही पेयजल की किल्लत, विभाग बेपरवाह उच्चाधिकारियों को बुलाने की मांग पर अड़े ग्रामीण, आंदोलन की दी चेतावनी

चंदौली, पेयजल आपूर्ति बाधित, जड़ा ताला
  • ग्रामीण बोले, पिछले एक माह से नहीं हो रही पानी की सप्लाई गर्मी में झेलनी पड़ रही पेयजल की किल्लत, विभाग बेपरवाह उच्चाधिकारियों को बुलाने की मांग पर अड़े ग्रामीण, आंदोलन की दी चेतावनी
  • ग्रामीण बोले, पिछले एक माह से नहीं हो रही पानी की सप्लाई
  • गर्मी में झेलनी पड़ रही पेयजल की किल्लत, विभाग बेपरवाह
  • उच्चाधिकारियों को बुलाने की मांग पर अड़े ग्रामीण, आंदोलन की दी चेतावनी

 

चंदौली। चकिया विकासखंड के सिकंदरपुर ग्राम में जल निगम की ओर से पिछले एक महीने से पानी की सप्लाई नहीं हो रही है। इससे आक्रोशित ग्रामीणों ने सोमवार को जलनिगम के दफ्तर पर ताला जड़ दिया। वहीं मौके पर उच्चाधिकारियों को बुलाने की मांग पर अड़ गए। ग्रामीणों ने उग्र आंदोलन की चेतावनी दी।

 

सिकंदरपुर ग्राम सभा के भारतीय जनता पार्टी के बूथ अध्यक्ष ओम प्रकाश सिंह पटेल तथा शक्ति केंद्र संयोजक अनिल कुमार रस्तोगी ने बताया कि गांव में पिछले एक महीने से पानी की सप्लाई नहीं मिल पा रही है। जल निगम के कार्यालय पर पहुंचे तो पता चला कि पंप ऑपरेटर कल से ही गायब है तथा कार्यालय का गेट भी खुला हुआ मिला। इसके बाद जल निगम के उच्च अधिकारियों को फोन करने पर उनका नंबर स्विच ऑफ मिला साथ ही साथ एसडीओ जल निगम भी बात करने के लिए तैयार नहीं हैं। अधिकारियों के रवैये से आक्रोशित स्थानीय निवासियों ने जल निगम के मेन गेट में ताला बंद कर दिया तथा मौके पर ही जिम्मेदार अधिकारियों को बुलाने की मांग करने लगे।

 

लोगों ने बताया कि विधायक कैलाश आचार्य की पहल पर अभी कुछ दिनों पहले ही सिकंदरपुर स्थित जल निगम में जले हुए मोटर की जगह पर उच्च छमता वाला नया मोटर लगाया गया था। इसके बावजूद जल निगम के कर्मचारी व अधिकारियों की उदासीनता से गांववासियों को बूद-बूद पानी के लिए तरसता पढ़ रहा है। सिकंदरपुर के ग्राम प्रधान प्रतिनिधि सत्यप्रकाश गुप्ता ने बताया कि लो वोल्टेज के कारण पानी आपूर्ति में समस्या हो रही है। जल निगम के एक्सईएन तथा एसडीओ सभी से बात की गई। जिलाधिकारी को भी समस्या से अवगत करा दिया गया है। वैकल्पिक व्यवस्था के लिए 30 केवीए का डिजी भेजा गया है, जल्द ही पानी की आपूर्ति चालू की जाएगी।

Back to top button
error: Content is protected !!