fbpx
क्राइमचंदौलीराज्य/जिला

चंदौलीः पूर्व ब्लाक प्रमुख के खिलाफ हत्या व सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा, पुलिस के पाले में गेंद

चंदौली। बबुरी थाना क्षेत्र निवासी किशोरी गुड़िया (काल्पनिक नाम) की रहस्यमयी मौत के मामले में न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने चकिया के पूर्व ब्लाक प्रमुख शिवेंद्र सिंह सहित दो नामजद और एक अज्ञात के खिलाफ हत्या, सामूहिक दुष्कर्म सहित अन्य संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है। रसूखदार पूर्व प्रमुख के खिलाफ सीधी कार्रवाई से पुलिस कतरा रही थी। लेकिन पाक्सो कानून के तहत गठित चंदौली की विशेष अदालत के आदेश पर पुलिस को झुकना पड़ा और बबुरी थाने में पूर्व प्रमुख शिवेंद्र प्रताप उसके करीबी अजय पाठक और एक अन्य के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

ये है पूरा मामला
विगत 12 जून को बबुरी थाना क्षेत्र निवासी किशोरी घर से निकली लेकिन रात तक वापस नहीं लौटी। परिजनों के अनुसार सोनभद्र जिले की सुकृत पुलिस ने फोन कर बताया कि किशोरी गंभीर अवस्था में मिली है। उसे अस्पताल में भर्ती करवाया गया जहां उसकी मौत हो गई। बगैर पोस्टमार्टम के किशोरी के शव को प्रवाहित कर दिया गया। इस मामले में पुलिस और चिकित्सकों पर भी आरोप लगे। पुलिस पर हीलाहवाली का आरोप लगा जबकि सोनभद्र के सरकारी चिकित्सक पर आरोप है कि बगैर पोस्टमार्टम उसने मौत का कारण जहर का सेवन बताया। बहरहाल किशोरी के दादा ने आरोप लगाया कि उसकी पोती अजय पाठक के यहां झाड़ू पोछा करने जाती थी। उस दिन भी वह अजय पाठक के घर ही गई थी। लेकिव वहां से सोनभद्र कैसे पहुंची यह रहस्य है। यह भी बताया कि दोनों आरोपित पूर्व प्रमुख और अजय पाठक अपने वाहन से किशोरी का शव लाने सोनभद्र गए थे। किशोरी के शव पर भूंसा लगा था, जिससे साफ था कि उसकी मौत स्वाभाविक नहीं थी। आरोप यह भी कि सामूहिक दुष्कर्म के बाद किशोरी को जहर दिया गया था। बहरहाल पीड़ित परिवार ने थाने से लेकर पुलिस के आलाधिकारियों तक गुहार लगाई लेकिन ऊंचे रसूख के चलते आरोपितों के खिलाफ पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। अंत में मृतका के दादा ने न्यायालय में गुहार लगाई। पाक्सो कानून के तहत गठित विशेष न्यायालय के आदेश पर बबुरी थाने में पूर्व प्रमुख शिवेंद्र सिंह, अजय पाठक और एक अज्ञात के खिलाफ संगीन धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष का रिश्तेदार है आरोपित पूर्व ब्लाक प्रमुख
चकिया का पूर्व ब्लाक प्रमुख शिवेंद्र सिंह पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष का रिश्तेदार है और भाजपा के कई दिग्गज नेताओं संग उसकी काफी सोशल मीडिया अकाउंट पर डाली गई तस्वीरों से पता चलती है जिसमें वह वह रक्षा मंत्री, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य, जिले के सांसद के साथ है। वह धनबली के नाम से मशहूर पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष के बड़े भाई का साला है। न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने मुकदमा तो दर्ज कर लिया है लेकिन आगे क्या कार्रवाई होगी इसपर संदेह ही बना हुआ है। अब विवेचना के नाम पर गेंद पुलिस के पाले में है। बबुरी थानाध्यक्ष सत्येंद्र विक्रम सिंह का कहना है कि किशोरी की मौत के मामले में शिवेंद्र सिंह, अजय पाठक और एक अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया हैै। पुलिस मामले की विवेचना कर रही है। इसके बाद ही आगे की कार्यवाही की जाएगी।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
error: Content is protected !!