fbpx
चंदौलीप्रशासन एवं पुलिस

चंदौली : डीएम ने धान खरीद की समीक्षा की, बोलीं, क्रय केंद्रों पर उपलब्ध हों जरूरी सुविधाएं, लापरवाही पड़ेगी भारी

चंदौली। शासन की मंशा के अनुरूप एक नवंबर से धान खरीद की प्रक्रिया शुरू हो गई है। हालांकि अभी तक फसल तैयार न होने की वजह से क्रय केंद्रों पर आवक नहीं है। जिलाधिकारी ईशा दुहन ने इसको लेकर अधिकारियों संग मीटिंग की। उन्होंने क्रय केंद्रों पर जरूरी सुविधाएं मुहैया कराने व धान बेचने के लिए खाद्य व रसद विभाग की वेबसाइट पर पंजीकरण कराने वाले किसानों का सत्यापन तीब्र गति से पूरा करने के निर्देश दिए। लापरवाही पर अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की चेतावनी दी।

उन्होंने कहा कि धान खरीद सुचारू रूप से चले। किसी भी समिति से कोई शिकायत नहीं आनी चाहिए। धान खरीद शासन की सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल है। इसलिए लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। प्रबंधक इस भ्रम में न रहे कि उस पर निगरानी नहीं की जा रही है। इसलिए सभी सतर्क रहकर ईमानदारीपूर्वक धान खरीदी में अपना अहम भूमिका निभाएं। किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या हो तो उसका तत्काल निराकरण करें। सभी क्रय केंद्रों पर नमी मापक यंत्र, कांटा, बोरा, शुद्ध पेयजल, साफ-सफाई, छाया की पर्याप्त व्यवस्था सहित अन्य मूलभूत सुविधाओं की व्यवस्था सुनिश्चित रखी जाए। क्रय केंद्र प्रभारी क्रय केंद्र पर रहकर किसानों का धान क्रय करें। शासन के निर्देशानुसार सभी क्रय केंद्र पर समुचित व्यवस्था के साथ किसानों की धान सहूलियत पूर्वक क्रय करें। जिन केंद्रों पर दो सेंटर स्थापित है दोनों सेंटरों पर मानक के अनुरूप पूरी क्षमता के साथ धान की खरीद सुनिश्चित की जाए। कहा कि क्रय केंद्रों पर धान बेचने के लिए पंजीकरण कराने वाले किसानों का सत्यापन तेजी से कराया जाए। सभी एसडीएम क्रय केंद्रों का निरीक्षण करते रहें। कंट्रोल रूम पूरी सक्रियता के साथ 24 घंटे संचालित किया जाए। किसानों से प्राप्त शिकायतों को रजिस्टर पर अंकित करें। इनका प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण कराया जाए। बैठक में विभागीय अधिकारी मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button