fbpx
चंदौलीराज्य/जिलाहेल्थ

मैक्सवेल हास्पिटल (Maxwell Hospital) के चिकित्सकों का कमाल, छह घंटे सर्जरी कर बचाया मरीज का हाथ

सिराजुद्दीन के हाथ की मुख्य नस जब शीशे से कटी तो उन्होंने उम्मीद छोड़ दी थी कि उनका हाथ कभी काम भी कर पाएगा। लेकिन वाराणसी के डाफी स्थित मैक्सवेल सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल के कुशल चिकित्सकों ने वह कर दिखाया जिसे चिकित्सकीय भाषा में दुर्लभ की कहा जाएगा।
  • मैक्सवेल हास्पिटल के चिकित्सकों का कमाल
  • छह घंटे सर्जरी कर बचाया मरीज का हाथ
  • शीशे से कट गई थी हाथ की मुख्य नस आर्टी

चंदौली। अलीनगर निवासी सिराजुद्दीन के हाथ की मुख्य नस जब शीशे से कटी तो उन्होंने उम्मीद छोड़ दी थी कि उनका हाथ कभी काम भी कर पाएगा। लेकिन वाराणसी के डाफी स्थित मैक्सवेल सुपर स्पेशियलिटी हास्पिटल के कुशल चिकित्सकों ने वह कर दिखाया जिसे चिकित्सकीय भाषा में दुर्लभ की कहा जाएगा। मुख्य आर्टी की छह घंटे लंबी सर्जरी के बाद मरीज का हाथ बचा कर उसे नया जीवन दिया। हाथ पहले की तरह काम कर रहा है। अस्पताल से छुट्टी मिलने के बाद सिराजुद्दीन और उनकी पत्नी गदगद नजर आए और मैक्सवेल अस्पताल के चिकित्सकों को धन्यवाद दिया।

 

अलीनगर के सिराजुद्दीन के हाथ की नस एक दुर्घटना में बुरी तरह कट गई। गंभीर अवस्था में उन्हें डाफी स्थित मैक्सवेल हास्पिटल में भर्ती कराया गया। यहां के अस्पताल के कुशल चिकित्सकों ने अपना काम शुरू किया। डाक्टरों की टीम ने छह घंटे लंबा आपरेशन कर आर्टी को पूरी तरह ठीक किया। इलाज के बाद मरीज को छुट्टी भी दे दी गई। पति-पत्नी ने चिकित्सकों को शुक्रिया कहा।

Back to top button
error: Content is protected !!