fbpx
क्राइमचंदौलीराज्य/जिला

Chandauli News: जमीन पर कब्जे से क्षुब्ध महिला ने समाधान दिवस में डीएम के सामने की आत्मदाह की कोशिश, मची खलबली, आनन-फानन में हटवाया गया कब्जा, अधिकारियों पर आरोप

मुगलसराय के बिलारीडीह तहसील में शनिवार को आयाजित समाधान दिवस में 35 वर्षीय महिला ने पट्टा की जमीन पर कब्जा से क्षुब्ध होकर जिलाधिकारी के सामने ही खुद पर डीजल छिड़ककर आत्मदाह की कोशिश की। हालांकि समय रहते उसे रोक लिया गया। घटना से अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए।
  • डीएम के सामने महिला ने की आत्मदाह की कोशिश
  • जमीन पर कब्जे से नाराज होकर उठाने जा रही थी आत्मघाती कदम
  • खुद पर उढ़ेल लिया डीजल, समय रहते रोक लिया गया

चंदौली। मुगलसराय के बिलारीडीह तहसील में शनिवार को आयाजित समाधान दिवस में 35 वर्षीय महिला ने पट्टा की जमीन पर कब्जा से क्षुब्ध होकर जिलाधिकारी के सामने ही खुद पर डीजल छिड़ककर आत्मदाह की कोशिश की। हालांकि समय रहते उसे रोक लिया गया। घटना से अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। डीएम के आदेश पर एसडीएम, सीओ सहित राजस्व और पुलिस विभाग की टीम मौके पर पहुंची और कब्जा हटवाया। महिला का आरोप है कि क्षेत्रीय लेखपाल और नायब तहसीलदार ने विरोधी से पैसे लेकर उसके जमीन पर कब्जा दिलवाया। दर्जनों प्रार्थना पत्र देने के बाद भी न तो एसडीएम और ना ही तहसीलदार उसकी फरियाद सुन रहे थे। आज भी जब वह समाधान दिवस में पहुंची तब नायब तहसीलदार ने उसे भगाने का प्रयास किया।

 

अलीनगर थाना क्षेत्र के भरछा तलपरा निवासी 35 वर्षीय मधु बिंद का आरोप है कि उससे ससुर को लगभग 45 वर्ष पहले आठ बिस्वा पट्टा की जमीन मिली है जिसपर वह खेती काम काम करती है। परिवार के भरण पोषण का यही आधार है। उसकी जमीन से सटा काश्तकार जो दबंग किस्म का व्यक्ति है उसने जमीन पर कब्जा करने के साथ ही पक्का निर्माण कर रास्ता अवरुद्ध कर दिया था। कब्जा हटवाने के लिए मधु पिछले दो वर्षों से तहसील कार्यालय का चक्कर काट रही थी। एसडीएम से लेकर तहसीलदार और नायब तहसीलदार तक से गुहार लगाई लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की। तहसीलदार तो उसका प्रार्थना पत्र तक फेंक देते थे। आरोप है कि नायब तहसीलदार और तत्कालीन लेखपाल विरेंद्र यादव ने विरोधी से पैसे लेकर बाउंड्री करवा दी। वर्तमान लेखपाल मानवेंद्र भी विरोधियों से मिल गए। मधु को पता चला कि जिलाधिकारी तहसील में मौजूद हैं तो वह अपनी फरियाद लेकर पहुंच गई। यहां भी नायब तहसीलदार ने उसे डीएम से मिलने नहीं दिया और वहां से हटने को कहा। महिला डीजल लेकर पहुंची थी उसने अधिकारियों के सामने की खुद पर डीजल उढ़ेल लिया। वह आग लगा पाती तबतक वहां मौजूद कर्मचारियों ने उसे पकड़ लिया। तहसील में खलबली मच गई। डीएम के आदेश पर एसडीएम, सीओ सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे और विपक्षी द्वारा की गई बाउड्री को गिरा कर कब्जा हटा दिया गया।

Back to top button
error: Content is protected !!