fbpx
ख़बरेंचंदौलीराज्य/जिला

चंदौली के इस क्रय केंद्र पर सात दिन से ताला बंद, किसानों ने दी आत्मदाह की चेतावनी

 

चंदौली। कहने को तो जिला धान का कटोरा है लेकिन सरकारी क्रय केंद्रों पर खरीद की स्थिति ऐसी कि अन्नदाता अपनी फसल बेचने को दर-दर भटकने को विवश हैं। शासन की सख्ती के बाद भी शहाबगंज ब्लाक में ईशापुर गांव स्थित पीसीयू का क्रय केंद्र विगत एक सप्ताह से बंद पड़ा है। केंद्र प्रभारी गायब हैं और किसान रोज इस उम्मीद में केंद्र का चक्कर लगा रहे हैं कि शायद खरीद शुरू हो जाए। किसानों का आरोप है कि उप जिलाधिकारी चकिया और डिप्टी आरएमओ से गुहार लगाने के बाद भी केंद्र नहीं खोला जा रहा।
ईशापुर में संचालित पीसीयू के धान क्रय केंद्र से जुड़े तकरीबन एक दर्जन गांवों के किसान इन दिनों परेशान हैं। केंद्र पर ताला लटका है और यह बताने वाला भी कोई नहीं कि खरीद कब शुरू होगी। कुछ किसान तो कई दिनों से अपनी धान की फसल गिराकर पहरा दे रहे हैं। आसमान में बादल उमड़ घुमड़ रहे हैं और किसानों का दिल बैठा जा रहा है। अधिकारियों से लेकर सत्ता पक्ष के नेताओं तक से गुहार लगाने के बाद भी किसानों की बात नक्कारखाने में तूती की आवाज बनकर रह गई है। बनरसिया, निचोटकला गांवों के किसान चंद्रभूषण पांडेय, हृदयानंद पांडेय, रामस्वरूप, धरमदेव तिवारी आदि किसानों ने पत्रक के माध्यम से डिप्टी आरएमओ से शिकायत की है और चेतावनी दी है कि किसानों की हालत काफी खराब है ऐसे में आत्महत्या और आत्मदाह के लिए प्रेरित न किया जाए।

दो‘तीन दिन में शुरू हो जाएगी खरीद

डिप्टी आरएमओ अनूप कुमार का कहना है कि ईशापुर खरीद केंद्र के प्रभारी बीमार होने की वजह से छुट्टी पर हैं। इसलिए केंद्र बंद चल रहा है। वैकल्पिक व्यवस्था कर दो से तीन दिन में केंद्र को खोल दिया जाएगा और खरीद शुरू हो जाएगी।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button