fbpx
GK अपडेटचंदौलीराज्य/जिला

चंदौलीः मोबाइल पर 15 मिनट पहले मिल जाएगी आकाशीय बिजली की चेतावनी, बस करना होगा यह काम

चंदौली। मौसम की बेरुखी के बीच आकाशीय बिजली मौत बनकर टूूट रही है। आकाशीय बिजली इस चालू सीजन में कई लोगों की जान जा चुकी है। आकाशीय बिजली से होने वाली दुर्घटनाओं पर रोक लगाने के लिए मौसम विज्ञान केंद्र पुणे ने एप्लिकेशन विकसित किया है। मोबाइल में दामिनी एप्लिकेशन अपलोड करें। यह मौसम बिगड़ने और आकाशीय बिजली गिरने के बारे में 15 मिनट पहले ही चेतावनी देगा। अपने एंड्रायड मोबाइल के प्ले स्टोर से एप्लिकेशन को आसानी से अपलोड किया जा सकता है। दरअसल, खुले आसमान के नीचे मौजूद लोग आकाशीय बिजली की चपेट में आते हैं। यदि उन्हें 15 मिनट पहले आकाशीय बिजली गिरने की जानकारी मिल जाएगी, तो भागकर कहीं सुरक्षित स्थान पर पहुंच सकते हैं। इससे जान बच जाएगी। एप्लिकेशन न सिर्फ आकाशीय बिजली का अलर्ट देगा, बल्कि बचाव के साथ ही प्राथमिक उपचार भी बताएगा।

कैसे काम करता है एप्लिकेशन
कृषि विज्ञान केंद्र के मौसम विज्ञानी कृष्णमुरारी पांडेय ने बताया कि दामिनी एप समय से पहले ही बिजली, वज्रपात की सटीक सूचना देता है। देश भर में लगे 48 सेंसर के साथ एक लाइटनिंग लोकेशन नेटवर्क स्थापित किया गया है। इस नेटवर्क के आधार पर ही एप्लिकेशन को विकसित किया गया है, जो 40 किलोमीटर के दायरे में आकाशीय बिजली गिरने के स्थान की जानकारी पांच से 15 मिनट पहले ही देता है।

मोबाइल में ऐसे डाउनलोड करें दामिनी ऐप
दामिनी एप को मोबाइल में डाउनलोड करना आसान है। एंड्रायड मोबाइल यूजर्स गूगल प्ले स्टोर और आइफोन का इस्तेमाल करने वाले एप्पल स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं। डाउनलोड करने के बाद इसमें पंजीकरण करना होता है। इसके लिए अपना नाम, स्थान आदि की डिटेल भरनी होगी।

चेतावनी मिलने पर बरतें सावधानी
कृषि विज्ञान केंद्र के प्रभारी डाक्टर एसपी सिंह ने बताया कि दामिनी एप के जरिए यदि आकाशीय बिजली गिरने की चेतावनी मिलती है, तो तत्काल सुरक्षित स्थान पर पहुंचे। खुले स्थान, पेड़ों के नीचे, पर्वतीय इलाके, चट्टान, बिजली के हाईटेंशन तारों के पास बिल्कुल न रुकें। बर्तन धोने, नहाने का काम न करें। वहीं जलभराव वाले स्थानों पर खतरा अधिक रहता है।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।
Back to top button
error: Content is protected !!