fbpx
ख़बरेंचंदौलीराज्य/जिला

चंदौली में इस धान क्रय एजेंसी ने लटकाया सैकड़ों किसानों का भुगतान, अन्नदाता परेशान

 

चंदौली। दौड़ भागकर किसी तरह क्रय केंद्रों पर अपनी फसल बेचने वाले किसानों की मुश्किल अब भी बरकरार है। कुछ क्रय एजेंसियां समय से भुगतान नहीं कर रहीं तो कुछ ने लंबे समय से भुगतान लटका रखा है। परेशान अन्नदाता एजेंसी और सेंटर का चक्कर काट रहे हैं। सबसे बुरा हाल नेफेड से जुड़ें केंद्रों पर धान बेचने वाले किसानों का है। इस एजेंसी से तीन करोड़ रुपये से अधिक का भुगतान लंबित है। हालांकि क्रय एजेंसी से जुड़े अधिकारी सफाई दे रहे हैं कि तकनीकी दिक्कतों के चलते यह समस्या आ रही है। जल्द ही किसानों का भुगतान हो जाएगा।
शासन का सख्त निर्देश है कि एजेंसियों पर धान बेचने वाले किसानों को 72 घंटे के भीतर भुगतान कर दिया जाए। लेकिन क्रय एजेंसी नेफेड को अपनी फसल बेचने वाले किसान 15-20 दिन से भुगतान की राह देख रहे हैं। कभी एजेंसी तो कभी अधिकारी कार्यालयों का चक्कर काटकर अन्नदाता आजिज आ चुके हैं। नेफेड से जुड़े एक कर्मचारी ने बताया कि किसानों को भुगतान के लिए बैंक में तकरीबन चार करोड़ रुपये छोड़े गए हैं, लेकिन पैसा किसानों के खातों में नहीं जा पा रहा। यह समस्या तकरीबन पूरे प्रदेश में आ रही है। इसके लिए उच्चाधिकारियों और एनआईसी से शिकायत की जा रही है। तकनीकी दिक्कतों की वजह से ऐसा हो रहा है। शीघ्र ही समस्या दूर कर ली जाएगी। किसानों को जल्द ही भुगतान हो जाएगा। धान खरीद के नोडल अधिकारी डिप्टी आरएमओ अनूप कुमार श्रीवास्तव का कहना है कि नेफेड के साथ कुछ दिक्कत आ रही है। एजेंसी के अधिकारियों से वार्ता की जा रही है। कुछ तकनीकी दिक्कत की वजह से ऐसा हो रहा है। लेकिन सभी किसानों का भुगतान कराया जाएगां

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button