fbpx
आजमगढ़क्राइमराज्य/जिला

पूर्व ब्लाक प्रमुख की हत्या में आया प्रदेश के टाप 10 अपराधी का नाम, प्रशासन ने मकान पर चलवाया बुल्डोजर

 

आजमगढ़। मऊ जिले के मोहम्मदाबाद के पूर्व ब्लाक प्रमुख अजीत सिंह की बुधवार को लखनऊ में सरेराह हुई हत्या ने जरायम की दुनियां में सनसनी फैला दी है। इस हत्याकांड में प्रदेश के टाप-10 अपराधी ध्रुव सिंह कुंटू का नाम सामने आ रहा है। पुलिस अजीत और कूंटू सिंह की पुरानी अदावत को जोड़ते हुए मामले की पड़ताल कर रही है। वहीं कूंटू सिंह एक के बाद अपराधिक घटनाओं को अंजाम दिलाकर अपराध की सीढ़ियां चढ़ता जा रहा है। हालांकि जेल में बंद यह अपराधी योगी सरकार के निशाने पर आ चुका है।
पिछले दिनों पुलिस ने कुंटू सिंह की एक करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त की। इसमें आजमगढ़ जिले के जीयनपुर नगर पंचायत स्थित मकान भी शामिल था। मकान विकास प्राधिकरण के नक्शे के अनुरूप नहीं बना था। लिहाजा गुरुवार को डीएम राजेश कुमार और एसपी सुधीर कुमार सिंह की मौजूदगी में प्रशासनिक अमला जीयनपुर पहुंचा और कुंटू सिंह के तीन मंजिला मकान को ध्वस्त करा दिया गया। अधिकारियों के साथ बड़ी संख्या में पुलिस और पीएसी बल की मौजूदगी रही। पांच जेसीबी मशीन लगाकर दोपहर बाद दो बजे ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया शुंरू की गई।

जानिए कुख्यात ध्रुव सिंह कुंटू के बारे में

आजमगढ़ निवासी ध्रुव सिंह कुंटू का नाम प्रदेश के टाप-10 अपराधियों में शामिल है। हाईप्रोफाइल विधायक हत्याकांड का मुख्य आरोपी कूंटू इस दिनों जेल में है। पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू की 19 जुलाई 2013 को हत्या कर दी गई थी। कुंटू सिंह और उसके सहयोगियों पर हत्या का आरोप है। मोहम्मदाबाद के पूर्व प्रमुख अजीत सिंह विधायक हत्याकांड के चश्मदीद गवाह थे। माममे की जिरह चल रही है और अजीत सिंह की गवाही नहीं हो पाई थी। वैसे अजीत सिंह और कुंटू सिंह एक समय जिगरी दोस्त हुआ करते थे। लेकिन संपत्ति बंटवारे और अन्य वजहों से दोनों की दोस्ती टूटी। फिर मोहम्मदाबाद ब्लाक प्रमुख चुनाव को लेकर दोनों एक दूसरे के जानी दुश्मन बन बैठे। हालांकि चुनाव में हर दफा अजीत सिंह ने कुंटू सिंह को मात दी। इससे दोनों के बीच दुश्मनी की जड़ें और गहरी होती चली गईं।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button