fbpx
क्राइमचंदौलीराज्य/जिला

चंदौली में गो आश्रय स्थल के बाहर छील रहे थे गोवंश का चमड़ा, वीडियो वायरल, मचा हड़कंप, एक हिरासत में

 

चंदौली। शासन की सख्ती और निर्देशों के ठीक उलट गो आश्रय स्थलों का बुरा हाल है। रखरखाव के अभाव में ठंड के चलते पशुओं के मरने का सिलसिला जारी है। मंगलवार को अलीनगर थाना क्षेत्र के पटपरा गांव स्थित पशु आश्रय से हैरान कर देने वाली खबर सामने आई। एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ जिसमें कुछ लोग आश्रय स्थल के बाहर ही एक गोवंश का चमड़ा उतारते नजर आए। वीडियो के वायरल होते ही प्रशासन में हड़कंप मच गया। पुलिस और प्रशासनिक अमला जब तक पहुंचता आरोपित गोवंश के शव पर मिट्टी डालकर वहां से फरार हो गए। बाद में मौके पर पहुंचे एसडीएम और सीवीओ ने मामले की जांच के आदेश दिये है। पुलिस ने आश्रय स्थल के एक सफाई कर्मचारी को हिरासत में ले लिया है।
बेसहारा पशुओं के लिए प्रदेश सरकार की ओर से शहर व ग्रामीण क्षेत्रों में पशु आश्रय केंद्र खाले गए हैं। किन्हीं कारणों से पशुओं की मौत के बाद उन्हें दफना दिया जाता है। मंगलवार को पटपरा गांव स्थित पशुओं आश्रय केंद्र के बाहर मृत पशुओं को दफनाये जाने
वाले स्थान पर मृत पड़े गोवंश का चमड़ा उतारे जाने का वीडियो वायरल होते प्रशासनिक अमला सकते में आ गया। ग्रामीणों के विरोध के बाद चमड़ा छीलने वाले लोग मौके से फरार हो गए। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने एक सफाईकर्मी को हिरासत में ले लिया। एसडीएम पीडीडीयू नगर सीपू गिरी व सीवीओ (मुख्य पशुचिकित्सक) डा. एसपी पांडेय भी मौके पर पहुंचे गए। उन्होंने घटना स्थल का मुआयना किया इसके सा‌थ ही निवर्तमात ग्राम प्रधान, चिकित्सक, सफाईकर्मियों से पूछताछ की। इस दौरान तीन गोवंश को दफनाये जाने की बात सामने आई। मौके पर दफनाए गोवंश समेत एक स्थान पर उतारा गया चमड़ा भी पड़ा मिला। एसडीएम सीपू गिरी ने कहा कि पूरे घटनाक्रम की रिपोर्ट बनाकर जिलाधिकारी को प्रेषित किये जाने समेत दोषियों के ‌खिलाफ
कानूनी कार्रवाई किये जाने के निर्देश दिया गया है।

सामने आई पशुपालन विभाग की लापरवाही

पशु आश्रय केंद्र पर रह रहे पशुओं की टैगिंग की जाती है। जबकि मंगलवार को पशु आश्रय केंद्र पटपरा पर मौजूद कई गोवंश की टै‌गिंग
नहीं की गई थी। वहीं जिन पशुओं की टैगिंग हुई थी उनके कान से टैग को निकाला गया था। अब ऐसे में टैगिंग नहीं किया जाना कहीं न कही पशुओं की संख्या में गड़बड़ी किये जाने की ओर इशारा कर रहा है। केंद्र पर कई पशुओं की हालत काफी खराब दिखाई दी। लोगों ने गायों को सूूूखा भूसा और ‌गंदा पानी पिलाये जाने का आरोप लगाया। इस संबंध पशु चिकित्सक डा. सूर्यप्रकाश ने बताया कि कान पकने के चलते टैग उतार दिया गया था। वहीं गायों की टैगिंग नहीं होने के मामले में सीवीओ डा. एसपी पांडेय ने जांच किये जाने

सीवीओ ने एक व्यक्ति जो जड़ा तमाचा

पटपरा में गोवंश का चमड़ा उतारे जाने की जानकारी मिलते ही पहुंचे मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. एसपी पांडेय कर्मचारियों पर तमतमा गए। उन्हें पूरे मामले की जानकारी ली। गुस्से में लाल हुए सीवीओ ने एक सफाई कर्मचारी को करारा थप्पड़ भी जड़ दिया।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button