fbpx
चंदौलीप्रशासन एवं पुलिसराज्य/जिला

दिल्ली रवाना हुआ किसानों का जत्था, चंदौली पुलिस से उलझे बिहार के विधायक

 

चंदौली। कृषि विधेयक के खिलाफ किसानों का आंदोलन तेज होता जा रहा है। 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड में शामिल होने मंगलवार को पांच सौ किसानों का जत्था बिहार के रास्ते नौबतपुर चंदौली होते हुए दिल्ली को रवाना हुआ। यूपी बिहार बार्डर पर राजद विधायक सुधार सिंह और उनके समर्थकों की पुलिस से नोंकझोक हो गई। विधायक भी समर्थकों के साथ आगे जाना चाह रहे थे। लेकिन पुलिस ने धारा 144 का हवाला देते हुए उन्हें आगे जाने से रोक दिया। सीओ सदर कुंवर प्रभात सिंह ने चेतावनी देते हुए कहा कि वापस चले जाएं वरना धारा 144 के उल्लंघन में उन्हें गिरफ्तार कर लिया जाएगा। रामगढ़ विधायक पुलिस से उलझ गए लेकिन पुलिस की सख्ती के आगे उनकी एक नहीं चली और विधायकों को वापस जाना पड़ा।


मंगलवार को उड़ीसा से चला 500 किसानों का जत्था मंगलवार को यूपी बिहार के बॉर्डर नौबतपुर पहुंचा। जहां जिला प्रशासन ने उन्हें रोककर पैदल मार्च ना करने और शांति पूर्वक अपने गंतव्य को जाने का आग्रह किया। किसान पैदल जाने के लिए आड़े रहे। उड़ीसा के नव निर्माण कृषक संगठन के राष्ट्रीय संयोजक अक्षय कुमार ने जिला प्रशासन के पैदल मार्च रोकने पर कहां कि केंद्र सरकार और यूपी सरकार अपनी नाकामियों को छिपाने के लिए किसानों को रोकना चाहती है, लेकिन वे रुकने वाले नहीं। जिसके बाद जत्था अपने में बसों में बैठकर दिल्ली रवाना हो गई। साथ आए बिहार के राजद विधायक सुधाकर सिंह, संगीता कुमार व भरत बींद को जिला प्रशासन ने आगे जाने से रोक दिया। विधायक समर्थकों की पुलिस से नोंकझोक भी हुई। लेकिन पुलिस विधायक को आगे नहीं जाने देने के अपने निर्णय पर अड़ी रही। अंत में राजद विधायक समर्थकों के साथ वापस लौट गए। इस दौरान एएसपी प्रेमचंद, एसडीएम विजय नारायण सिंह, सीओ चकिया प्रीति त्रिपाठी मुस्तैद रहे।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button