fbpx
वाराणसी

Varanasi News: जनसंख्या स्थिरता का दूसरा चरण हुआ शुरू, 24 जुलाई तक चलेगा सेवा पखवाड़ा

वाराणसी : जनसंख्या स्थिरता के लिए छोटा और सुखी परिवार का होना बहुत जरूरी है। इसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भी भाव है कि जनसंख्या में स्थिरता आनी चाहिए। स्थिर जनसंख्या के साथ ही हम विकास की अलग–अलग योजनाओं की रचना कर सकते हैं। प्रत्येक व्यक्ति के सुख की परिकल्पना की जा सकती है। सभी बच्चों को अच्छी शिक्षा व अन्य सुविधाएं मिल सकें। सभी को रहने के लिए अपना आवास हो। सभी सुविधाएं पूर्ण से सुव्यवस्थित हों जिससे गरीब व आम जनमानस को किसी भी प्रकार की परेशानी न हो। इसी उद्देश्य से विश्व जनसंख्या दिवस पर मंगलवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय से जन जागरूकता रैली निकाली गई”।

ये सभी बातें पूर्व राज्यमंत्री व वर्तमान दक्षिणी विधायक डॉ. नीलकंठ तिवारी ने कहीं। वह विश्व जनसंख्या दिवस पर सीएमओ कार्यालय में आयोजित समारोह में कह रहे थे। साथ ही उन्होंने हस्ताक्षर अभियान में अपने हस्ताक्षर कर समुदाय को जागरूक करने का संकल्प भी लिया। समारोह से पहले विधायक ने आशा कार्यकर्ताओं के साथ बातचीत की। उन्हें प्रोत्साहित करते हुये कहा कि आशा कार्यकर्ताएं स्वास्थ्य विभाग की मजबूत व अहम कड़ी है। जिन्होंने कोरोना काल से लेकर सभी परिस्थितियों में बेहतर कार्य किया है। स्वास्थ्य कार्यक्रम चाहे वो टीकाकरण हो या घर-घर जाकर रोगियों को खोजना हो। उन्होंने आशाओं को प्रेरित किया कि इस पखवाड़े में घर-घर जाकर ज्यादा से ज्यादा लोगों को जागरूक करें और इच्छुक दंपत्ति व लाभार्थियों को परिवार नियोजन की सेवाएं प्रदान करने के लिए प्रेरित करें। इसके अलावा सामुदाय के अंतिम व्यक्ति को सभी स्वास्थ्य सेवाओं का भी लाभ दिलाएँ।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. संदीप चौधरी ने बताया कि आज से जनसंख्या स्थिरता पखवाड़े का दूसरा चरण सेवा प्रदायगी पखवाड़ा शुरू हो चुका है जो 24 जुलाई तक चलेगा। नसबंदी शिविर डीडीयू चिकित्सालय पाण्डेयपुर, जिला महिला चिकित्सालय कबीरचौरा, एलबीएस चिकित्सालय रामनगर, सीएचसी दुर्गाकुंड, सीएचसी शिवपुर, सीएचसी चौकाघाट एवं सभी ब्लॉक स्तरीय सीएचसी पीएचसी पर प्रत्येक दिवस लगाए जाएंगे। इसके लिए कई सर्जन रोस्टर वार तैनात किए गए हैं जो पुरुष व महिला नसबंदी की सेवाएं प्रदान करेंगे। इसके अलावा सभी सरकारी चिकित्सालयों, नगरीय व ग्रामीण सीएचसी-पीएचसी, आयुष्मान भारत – हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर, स्वास्थ्य उपकेन्द्रों पर बास्केट ऑफ च्वाइस के माध्यम से परिवार नियोजन के साधन जैसे अंतरा इंजेक्शन, माला एन, छाया, कंडोम, पीपीआईयूसीडी, आईयूसीडी की सेवाएं प्रदान की जाएंगी। परिवार नियोजन किट (कंडोम बॉक्स) में कंडोम, माला एन व आपातकालीन गर्भ निरोधक गोली की उपलब्धता नियमित बनी रहे। उन्होंने कहा कि जनसंख्या स्थिरता को बढ़ावा देने और प्रजनन दर को कम करने में स्वास्थ्य विभाग प्रयासरत है।

इस मौके पर मण्डल प्रभारी डॉ. वीरेंद्र प्रताप सिंह, जिला शासकीय अधिवक्ता आलोक चंद्र शुक्ला, वरिष्ठ भाजपा नेता सुधीर सिंह, पार्षद अक्षयबर सिंह, प्रियांशु तिवारी, भरत, पप्पू, राजन व स्वास्थ्य विभाग के डिप्टी सीएमओ डॉ. एचसी मौर्य, डॉ. अमित सिंह, एसीएमओ डॉ. एसएस कनौजिया, डॉ. राजेश प्रसाद, डीपीएम संतोष कुमार, डीएचईआईओ हरिवंश यादव, डिप्टी डीएचईआईओ कल्पना सिंह व उषा ओझा, डीसीपीएम, यूपीटीएसयू से जिला परिवार नियोजन विशेषज्ञ, पीएसआई इंडिया प्रतिनिधि एवं अन्य अधिकारी व स्टाफ उपस्थित रहा।

Back to top button
error: Content is protected !!