क्राइममिर्ज़ापुरराज्य/जिला

अपराधियों की संगत में बना इनामी बदमाश, बताया कैसे की फैक्ट्री डायरेक्टर की हत्या

मीरजापुर। चुनार स्थित शान्ति गोपाल कानकास्ट लिमिटेड (ऑयरन फैक्ट्री) के डायरेक्टर जिवेंदु रथ की हत्या में वांछित 50 हजार रुपये का इनामी बदमाश विक्रम यादव सोमवार की रात पुलिस के हत्थे चढ़ गया। 16 अक्तूबर को धौहा पहाड़ी पर मुसिल से साथ हुई मुठभेड़ के दौरान चकमा देकर भाग निकला था। जबकि इसका एक साथी अजीत उर्फ भानू यादव पकड़ा गया।
एसपी ने बताया कि 27 सितंबर को कबीर मठ कस्बा धौहा चुनार के टेक्निकल डायरेक्टर जिवेन्दू रथ की अज्ञात बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी। उनके साथी किशोर कुमार दास भी गोली लगने से घायल हो गए। घटना में वांछित तीन अभियुक्त भोनू उर्फ अजय यादव, अनिल यादव और अजीत उर्फ भानू यादव को गिरफ्तार कर पूर्व में जेल भेजा जा चुका है। जबकि शेष वांछित अभियुक्तों की गिरफ्तारी हेतु पुलिस महानिरीक्षक विन्ध्याचल परिक्षेत्र ने 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर पुलिस और एसओजी टीम ने यादव ढाबा अचितपुर से विक्रम यादव निवासी अचितपुर पुरैनी थाना अदलहाट को गिरफ्तार किया गया। उसके पास से एक पिस्टल व तीन जिंदा कारतूस बरामद किया गया। पूछताछ में बताया कि मैं अपराधियों की संगत में आकर अपराध करने लगा। 27 सितंबर को कस्बा चुनार में रामलीला मैदान के पास अपने अन्य साथियों के साथ मिलकर ऑयरन फैक्ट्री के डायरेक्टर जिवेन्दू रथ की गोली मारकर हत्या कर दी थी एवं उसके साथ के व्यक्ति को भी गोली मारकर घायल कर दिया था। यह पिस्टल जो मेरे पास से बरामद हुई है इसी से मैने जिवेन्दू रथ की हत्या की थी। 16 अक्तूबर को पुलिस मुठभेड़ में भी मैं बचते-बचाते फरार हो गया, जबकि मेरा साथी अजीत उर्फ भानू यादव पकड़ा गया।

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!