fbpx
प्रशासन एवं पुलिसमिर्ज़ापुरराज्य/जिला

पीएम आवास के नाम पर वसूली करने वाले गिरोह का भंडाफोड़, जेई बर्खास्त

मिर्जापुर/चंदौली। प्रधानमंत्री शहरी आवास में फर्जी सत्यापन करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ हुआ। गिराह में वाराणसी और चंदौली के पांच जालसाज शामिल थे। डूडा के लिए अहरौरा में कार्य कर रहे एक जेई को विभाग ने बर्खास्त कर दिया गया। कार्रवाई से जहां विभाग में खलबली मची हुई है वहीं मामले में अन्य के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने से विभाग की कार्यप्रणाली पर सवाल खड़े हो रहे हैं।
वाराणसी और चंदौली जनपद के 4-5 लोग फर्जी तरीके से आवास सत्यापन के नाम पर क्षेत्र में पीएम आवास के लाभार्थियों से वसूली कर रहे थे। इनकी शिकायत कई दिनों से मिल रही थी। इसी बीच स्थानीय सभासदों ने मिलकर सबको पकड़ लिया और उसके बाद पुलिस के हवाले कर दिया। बताया जाता है कि पुलिस और विभाग की सूचना पर डूडा कार्यालय मिर्जापुर से एक टीम अहरौरा गई। डूडा के लिए पीछले 15 माह से कार्यरत एक नीजि कंपनी के जेई  की भी फर्जीवाड़े में संलिप्तता मिली। जिसके बाद उनकी संस्था सरयू बाबू इंजीनियर्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने शनिवार को उसे बर्खास्त कर दिया।
वहीं विभागीय अधिकारियों ने बताया कि विभाग को किसी लाभार्थी द्वारा लिखित शिकायत नही मिली है। शिकायत मिलने पर कार्यवाही होगी। इस बात की भी चर्चा जोरों पर है कि जिला नगरीय विकास अभिकरण(डूडा) कार्यालय में बैठे एक अन्य अधिकारी भी इस मामले में प्रश्रय दे रहे थे, जिनको बचाने का प्रयास किया जा रहा है। इस प्रकार का मामला एक वर्ष पूर्व नगर में भी था, जिसके चलते कई कर्मचारियों अधिकारियों को इधर से उधर किया गया था। फिलहाल कार्यालय में बैठे वे कौन लोग है जो गरीबों को लूट रहे हैं और उन्हें बचाया जा रहा है ये तो पुलिसिया कार्रवाई के बाद ही पता चलेगा।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!