fbpx
चंदौलीप्रशासन एवं पुलिसराज्य/जिला

चंदौली दौरे पर आए कमिश्नर बिगड़ा रहा मिजाज, लगाई फटकार

 

चंदौली। चंदौली जिले के नोडल अधिकारी और कमिश्नर दीपक अग्रवाल शुक्रवार को चंदौली दौरे पर थे। इस दौरान अधिकारियों संग बैठक कर विकास कार्यों पर चर्चा की तो निर्माणाधाीन कार्यों को भी देखा। अधिकांश समय कमिश्नर साहब का मिजाज बिगड़ा रहा। योजनाओं और व्यवस्था में खामियां मिलीं तो अधिकारियों को फटकार भी लगाई। कमिश्नर दोपहर लगभग 12 बजे जिले में पहुंचे।
सतपोखरी में पेयजल परियोजना, पीडीडीयू नगर कोतवाली में निर्माणाधीन बैरक और मुख्यालय पर कृषि उपनिदेशक कार्यालय का निरीक्षण किया। इस दौरान बैरक की पीलर टेढ़ी मिली। वहीं आनलाइन शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही सामने आई। उन्होंने अधिकारियों को फटकार लगाई और सुधार के निर्देश दिए। उन्होंने सबसे पहले सतपोखरी में पेयजल परियोजना का अवलोकन किया। पाइप लाइन की अंतिम छोर तक देखा। अवशेष कार्यों को अविलंब पूर्ण कर परियोजना ग्राम पंचायत को हैंडओवर करने के निर्देश कार्यदाई संस्था के प्रतिनिधियों को दिया। इसके बाद पीडीडीयू नगर कोतवाली पहुंचे। यहां 48 कर्मियों के लिए 3.63 करोड़ की लागत से निर्मित होने वाले हास्टल का निर्माण देखा। इस दौरान बैरक का पीलर टेढ़ा दिखने पर कार्यदाई संस्थाओं के प्रतिनिधियों की क्लास लगाई। इसे तत्काल दुरूस्त करने के निर्देश दिए। महिला हेल्फ डेस्क पर पंजिका की गहनता से जांच की। वहीं फरियादियों की समस्याओं का प्राथमिकता के आधार पर निस्तारण करने पर जोर दिया। इसके बाद कृषि उपनिदेशक दफ्तर में हेल्प डेस्क का फीता काटकर शुभारंभ किया।

कमिश्नर नाराज, सीएमओ को लगाई फटकार

जिले में स्वास्थ्य सेवाओं की खराब स्थिति और आयुष्मान योजना लाभार्थियों के गोल्डेन कार्ड बनाने में लापरवाही पर मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल ने विकास भवन सभागार में समीक्षा बैठक में सीएमओ डा. आरके मिश्रा को जमकर फटकार लगाई। उन्होंने इसमें तेजी लाने के निर्देश दिए। बोले, लापरवाही पर सख्त कार्रवाई की जाएगी। अतिपिछड़े जिले में गोल्डेन कार्ड बनाने में सीएससी (कामन सर्विस सेंटर) संचालक रुचि नहीं ले रहे हैं। इससे स्थिति खराब है। इस पर कमिश्नर नाराज दिखे। बोले, सीएमओ नियमित प्रगति की समीक्षा करें। शत-प्रतिशत लाभार्थियों के गोल्डेन कार्ड बनने चाहिए। हेल्थ और वेलनेस सेंटरों में मरीजों के इलाज की समुचित व्यवस्था होनी चाहिए। कोरोना काल में अस्पतालों में संसाधनों की कमी नहीं होनी चाहिए। जिला अस्पताल के साथ ही सीएचसी व पीएचसी में पर्याप्त मात्रा में दवा उपलब्ध रहे। कहा शिक्षा विभाग परिषदीय स्कूलों में निर्धारित मानक के अनुरूप सुविधाएं सुनिश्चित करे। आनलाइन कक्षाओं व मोहल्ला क्लासेज का सही ढंग से संचालन किया जाए। बोले, सर्दी के मौसम में बेसहारा पशुओं के लिए भी खतरा बढ़ गया है। ऐसे में पशु चिकित्साधिकारी व नोडल अधिकारी लगातार चक्रमण कर गोवंश संरक्षण केंद्रों में सुविधाओं का जायजा लेते रहें। यहां पशुओं के लिए चारा, पेयजल की व्यवस्था होनी चाहिए। वहीं ठंड से बचाव की भी व्यवस्था की जाए। मुद्रा लोन का लक्ष्य पूरा न होने पर नाराजगी जताई। अग्रणी जिला प्रबंधक को जल्द लक्ष्य पूरा कराने का निर्देश दिया। कहा, सभी ग्राम पंचायतों में सचिवालय का निर्माण कराया जाना चाहिए। जिलाधिकारी संजीव सिंह, एसपी अमित कुमार, सीडीओ अजितेंद्र नारायण, एडीएम अतुल कुमार, कृषि उपनिदेशक राजीव कुमार भारती, कृषि रक्षा अधिकारी अमित जायसवाल मौजूद थे।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button