fbpx
क्राइमचंदौली

Chandauli News : पाकिस्तानी माशूका के लिए देशद्रोही बन गया राशिद, कराची में रह चुका है, काफी दिलचस्प है पूरी कहानी  

चंदौली। मुगलसराय कोतवाली के चौरहट गांव के रहने वाले मोहम्मद राशिद को एनआई के विशेष न्यायाधीश ने भारतीय सेना समेत विभिन्न आंतरिक सुरक्षा से संबंधित सूचनाओं को आईएसआई और पाकिस्तानी सेना से साझा करने का दोषी करार दिया है। राशिद को इसके लिए छह साल की सजा हुई है। पाकिस्तानी माशूका के लिए देशद्रोही बनने वाले राशिद की पूरी कहानी काफी दिलचस्प है।

 

स्थानीय लोगों के अनुसार राशिद की मां अपने पति से तलाक के बाद अपने पिता के घर चौरहट में रहती थी। जबकि राशिद की मौसी हसीना बेगम पाकिस्तान के कराची में रहती है। राशिद अपनी मौसी के पास पाकिस्तान गया था। उसी दौरान उसको अपने मामू नजीर की बेटी अनस से प्यार हो गया था। उसने वहीं उससे निकाह करने की ठानी थी। कहा जा रहा है कि राशिद अपने मौसेरे भाई सहजेब के साथ कराची में रहता था। सहजेब ने उसकी दोस्ती आसिम और अमद से कराई थी, जो पाकिस्तान के आईएसआई के एजेंट थे। इन दोनों ने ही राशिद को सैन्य ठिकानों समेत विभिन्न प्रमुख स्थानों की फोटो और वीडियो भेजने को कहा था। इसके एवज में अनस से निकाह और महंगे उपहार व रुपये देने का लालच दिया था। राशिद ने उस दौरान सीएए और एनआरसी के विरोध से जुडे वीडियो के अलावा सैन्य ठिकानों, प्रमुख मंदिरों के अलावा कई फोटो व वीडियो पाकिस्तान भेजे थे। 2019 में वह भारत लौट आया था। उसे पाकिस्तान में बनी टीशर्च व पेटीएम के माध्यम से पांच हजार रुपये भी भेजे गए थे। राशिद का पाकिस्तान के प्रति प्रेम इस कदर सिर चढ़कर बोलने लगा कि उसने अपने फेसबुक अकाउंट से आई लव माई पाकिस्तान और प्रधानमंत्री को लेकर अभद्र टिप्पणी भी की थी। उसे एनआईए ने पकड़ा था। एनआईए की टीम चौरहट भी पहुंची थी। उसकी मां के घर की तलाशी ली। वहीं अन्य तरह के साक्ष्य इकट्ठा किए थे।

Back to top button
error: Content is protected !!