fbpx
ख़बरेंचंदौली

Chandauli News : पूर्व विधायक मनोज डब्लू के वाहनों की पुलिस ने ली तलाशी, नाराज सपा नेता बोले कभी सत्ता पक्ष की गाड़ियां भी चेक कर लिया करिए

बोले, भाजपाइयों की गाड़ियां चेक हों तो मिलेगा करोड़ों रुपये नकदी और शराब पुलिस जांच के नाम पर विपक्षी दलों को डराने की हो रही है कोशिश पुलिस ने चुनाव का हवाला देकर पूर्व विधायक की गाड़ियों की ली तलाशी

चंदौली, पूर्व विधायक, गाड़ियों की चेकिंग
  • बोले, भाजपाइयों की गाड़ियां चेक हों तो मिलेगा करोड़ों रुपये नकदी और शराब पुलिस जांच के नाम पर विपक्षी दलों को डराने की हो रही है कोशिश पुलिस ने चुनाव का हवाला देकर पूर्व विधायक की गाड़ियों की ली तलाशी
  • बोले, भाजपाइयों की गाड़ियां चेक हों तो मिलेगा करोड़ों रुपये नकदी और शराब
  • पुलिस जांच के नाम पर विपक्षी दलों को डराने की हो रही है कोशिश
  • पुलिस ने चुनाव का हवाला देकर पूर्व विधायक की गाड़ियों की ली तलाशी

 

चंदौली। सपा के राष्ट्रीय सचिव व सैयदराजा से पूर्व विधायक मनोज सिंह डब्लू के वाहनों को पुलिस ने मंगलवार की रात चेक किया। इस दौरान पूर्व विधायक व पुलिस आमने-सामने नजर आए। उन्होंने पुलिस को नसीहत दी कि विपक्ष की गाड़ियों को चेक करने की बजाय सत्तापक्ष की गाड़ियों को चेक करें। करोड़ों रुपये नकदी और शराब मिल जाएगी। इसका इस्तेमाल चुनाव को प्रभावित करने के लिए किया जा रहा है।

 

उन्होंने दावा कि यदि पुलिस भाजपा का झंडा लगाकर जनपद में फर्राटा भर रहे भाजपा नेताओं की गाड़ियों को चेक करना शुरू कर दे तो उन्हें करोड़ों रुपये नकदी व शराब की खेप मिल जाएगी, जो इस वक्त चुनाव को प्रभावित करने के लिए इस्तेमाल में लायी जा रही है। यह भी आरोप लगाया कि भाजपा प्रत्याशी डा.महेंद्रनाथ पांडेय व उनके साथ चलने वाली गाड़ियों में हमेशा से नकदी रहती है, उन्हें चेक करने की बजाय पुलिस उन्हें अपनी सुरक्षा में परिवहन कराने में सहयोग दे रही है। विपक्ष के नेताओं पर निर्वाचन आयोग के नियम-कायदे का हवाला देते हुए जांच-पड़ताल कर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने का षड्यंत्र किया जा रहा है। कहा कि पुलिस-प्रशासन पूरी तरह से सत्ता पक्ष के दबाव में आकर चुनावी लड़ाई को एकतरफा करने की साजिश का हिस्सा बन गयी है। यही वजह है कि लोकसभा चुनाव की अधिसूचना लगे इतना समय हो गया, लेकिन पुलिस-प्रशासन ने एक भी ऐसी तस्वीर सार्वजनिक नहीं की, जिसमें वह भाजपा के बड़े नेताओं, मंत्रियों व भाजपा उम्मीदवार की गाड़ी को चेक कर रहा हो। कहा कि पुलिस-प्रशासन को चुनाव के दौरान अपनी निष्पक्ष छवि पेश करने की जरूरत है, लेकिन इसके विपरीत व सत्ता पक्ष के दबाव में दिन प्रतिदिन झुकती चली जा रही है, जो स्वस्थ लोकतंत्र के लिए बड़ा खतरा है।

Back to top button
error: Content is protected !!