fbpx
क्राइमचंदौली

Chandauli News : पोता होटल में कर रहा था नौकरी, दादा ने दर्ज कराई अपहरण की फर्जी रिपोर्ट

पुलिस, फर्जी अपहरण, कोलकाता
  • पुलिस की छानबीन में सामने आई सच्चाई, रिशेप्शन पर नौकरी करता मिला पोता लोन का पैसा चुकता न करना पड़े इसलिए रच दी अपहरण की झूठी कहानी पुलिस की तहकीकात में कई चीजें आईं सामने, दोषियों पर करेंगे कार्रवाई
  • पुलिस की छानबीन में सामने आई सच्चाई, रिशेप्शन पर नौकरी करता मिला पोता
  • लोन का पैसा चुकता न करना पड़े इसलिए रच दी अपहरण की झूठी कहानी
  • पुलिस की तहकीकात में कई चीजें आईं सामने, दोषियों पर करेंगे कार्रवाई

 

चंदौली। मुगलसराय कोतवाली के सतपोखरी निवासी मोहम्मद उस्मान ने अपने पोते मोहम्मद रिजवान के अपहरण की फर्जी रिपोर्ट दर्ज करा दी। पुलिस की छानबीन में सच्चाई सामने आ गई। पोता कोलकाता के एक होटल में रिशेप्सनिस्ट की नौकरी करता पाया। लोन का पैसा न चुकता करना पड़े इसलिए दादा, बेटे व पोते ने मिलकर अपहरण की झूठी कहानी गढ़ दी। पुलिस ने पोते को दादा को सुपुर्द कर दिया। जांच में कई चीजें सामने आई हैं। उसके अनुसार दोषियों पर कार्रवाई होगी।

 

मोहम्मद उस्मान ने पुलिस को बताया कि उसका पोता (प्रपौत्र) मोहम्मद रीजवान आलम पुत्र मोहम्मद जुल्फिकार 31 जुलाई 2023 को सुबह 9 बजे अपने मकान के भूतल पर स्थित दुकान खोलने खोलने चाबी लेकर नीचे गया। दुकान खोलकर बैठा था। उसी दौरान कुछ अज्ञात लोग पहुंचे और उसे अपने साथ लेकर चले गए। न्यायालय के आदेश पर पुलिस ने धारा 156 (3)  में मुकदमा पंजीकृत कर छानबीन शुरू कर दी। इसमें वादी मुकदमा उस्मान ने अंकित कराया कि मेरे पोते रिजवान को मोहम्मद जुनैद पुत्र मोहम्मद नईम निवासी अम्बिया मण्डी वाराणसी व उसके अन्य चार भाइयों ने 15 लाख रुपये रिजवान से लेकर उसका अपहरण कर गायब कर दिया। पुलिस को मामला संदिग्ध समझ आया तो गहनता से छानबीन शुरू कर दी। पता चला कि रिजवान कोलकाता के थाना न्यू मार्केट पुलिस स्टेशन कोलकाता स्थित होटल गुलशन इन मार्केट स्ट्रीट कोलकात्ता में रिसेप्शन पर नौकरी करता है। इसी क्रम में मुगलसराय पुलिस ने न्यू मार्केट पुलिस स्टेशन कोलकाता पहुंचकर थाना से पुलिस बल लेकर होटल पहुंची। वहां मोहम्मद रिजवान होटल के रिसेप्शन पर काम करता पाया गया। उसे अपने साथ मुगलसराय ले आई और दादा को सुपुर्द कर दिया। सीओ अनिरूद्ध सिंह ने बताया कि छानबीन में सामने आया है कि लोन न चुकाना पड़े इसलिए दादा, बेटा और पोते ने मिलकर अपहरण की झूठी कहानी गढ़कर पुलिस को परेशान करने का काम किया। रिजवान के दादा व पिता उससे मिलने कोलकाता भी गए थे। प्रकरण की गहनता से छानबीन की जा रही है। जो भी दोषी होगा, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Back to top button
error: Content is protected !!