fbpx
ख़बरेंचंदौलीराज्य/जिला

पशुपालकों का बनेगा क्रेडिट कार्ड, चंदौली में आठ हजार आवेदन

 

चंदौली। सरकार ने डेयरी उद्योग को बढ़ावा देने की दिशा में पहल की है। ऐसे में अब पशुपालन को भी क्रेडिट कार्ड योजना का लाभ दिया जाएगा। चंदौली में आठ हजार पशुपालकों ने आवेदन किया है। जमीन व पशुओं की नस्ल और संख्या के आधार पर बैंक पशुपालकों को ऋण प्रदान करेंगे। जनपद में 10 हजार पशुपालकों का क्रेडिट कार्ड बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।
कृषि प्रधान जनपद में लगभग पांच लाख मवेशी हैं। इसमें चार लाख गाय हैं जबकि एक लाख से अधिक भैंस हैं। एक दर्जन वृहद, मिनी और माइक्रो कामधेनु डेयरी हैं। रोजाना करीब 25 हजार लीटर से अधिक दुग्ध उत्पादन होता है। पशुपालकों के लिए क्रेडिट कार्ड की व्यवस्था होने से डेयरी उद्योग को बढ़ावा मिलेगा। वहीं दुग्घ उत्पादन भी बढ़ेगा। प्रदेश सरकार ने पशुपालकों का क्रेडिट कार्ड बनवाने की प्रक्रिया शुरू की है। पशुपालकों को बैंकों से ऋण मिलेगा। दिसंबर माह में योजना लागू की गई। इसको लेकर लोगों में रुझान बढ़ने लगा है। कृषि प्रधान जनपद में 10 हजार क्रेडिट कार्ड बनवाने के लक्ष्य के सापेक्ष अभी तक आठ हजार लोगों ने आवेदन किया है। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा. एसपी पांडेय ने बताया कि आवेदनों की जांच कर विभाग की ओर से बैंकों को उपलब्ध कराया गया है। नई योजना से डेयरी उद्योग और पशुपालन को बढ़ावा मिलेगा। जल्द ही लक्ष्य पूरा कर लिया जाएगा। पात्रों को ही बैंकों से ऋण मिलेगा।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!