fbpx
क्राइममऊराज्य/जिला

मुख्तार अंसारी गिरोह के तीन गुर्गे गिरफ्तार, करीबी को 60 लाख की चपत

मऊ। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी गिरोह पर पुलिसिया कार्रवाई जारी है। रविवार को पुलिस ने मुख्तार गैंग के तीन करीबियों को दबोच कर खेले में खलबली मचा दी। आए दिन मुख्तार के करीबियों के खिलाफ हो रही पुलिसिया कार्रवाई से अब जिले के अपराधी अपनी जान बचाते नजर आ रहे हैं।
पुलिस प्रशासन द्वारा चलाये जा रहे अभियान के क्रम में थाना दक्षिणटोला पुलिस को उस समय अहम सफलता हाथ लगी जब मुखबिर की सूचना पर ईदगाह डिहवा के पास से विभिन्नि आपराधिक मामलों और गैंगेस्टर एक्ट में वांछित आरोपियों अबू रफी आजमी, जियाउल रहमान, रशीद अहमद, निवासी जमालपुरा थाना दक्षिणटोला मऊ को गिरफ्तार किया गया। पुलिस के अनुसार तीनों शातिर किस्म के अपराधी हैं।

मुख्तार गैंग के एक और करीबी की 60 लाख की संपत्ति जब्त

पुलिस ने माफिया मुख्तार अंसारी गिरोह आईएस 191 के अत्यंत नजदीकी कोयला माफिया व अपराधिक गैंग आईआर. 09 के सदस्य व हिस्ट्रीशीटर राजेश उर्फ राजन सिंह की 60 लाख 18 हजार रुपये की सम्पत्ति जब्त कर ली। बतादें कि वर्ष 2009 में हुए मन्ना सिंह हत्याकांड में गवाह राम सिंह मौर्य व उनकी सुरक्षा में लगे पुलिसकर्मी आरक्षी सतीश की सन 2010 में ताबड़तोड़ फायरिंग कर हत्या कर दी गई थी। इस संबंध में थाना दक्षिण टोला में मामला दर्ज किया गया। इस अभियोग में राजन सिंह भी मुख्तार अंसारी के साथ सह अभियुक्त है। इसके अलावा भी उमेश सिंह व राजन सिंह के विरुद्ध कुल 08 मुकदमें पंजीकृत हैं। आरोप है कि पिछले दो दशकों के दौरान राजन सिंह व उमेश सिंह का मुख्तार अंसारी व गिरोह के मुख्य शरणदाता व आर्थिक मददगार के रूप में अग्रणी भूमिका रही है।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!