क्राइममिर्ज़ापुरराज्य/जिला

मिर्जापुर के हर्रा जंगल में मिले तीन सगी बहनों के कंकाल, शक के घेरे में मां

मिर्जापुर। हलिया थाना अंतर्गत के हर्रा जंगल में तीन सगी बहनों के नर कंकाल मिलने से सनसनी फैल गई। उनकी मां बीते 16 अगस्त को ही बच्चियों को लेकर घर से निकली थी। परिवार वालों को पिछले एक माह से गुमराह कर रही थी। बहरहाल परिजनों ने कपड़ों से ही बच्चियों की शिनाख्त की। शव मिलने के बाद से ही मां मायके से फरार है। पुलिस मामले की जांच के साथ  महिला की तलाश कर रही है।
हलिया क्षेत्र के बेलाही गांव निवासी देवीदास कोल की पत्नी सीमा पति के विवाद के बाद बीते 16 अगस्त को अपनी तीन बच्चियों गोलू 12 वर्ष, मुन्नी 10 वर्ष और ममता आठ वर्ष को लेकर घर से निकल गई। बाद में पति वापस आया तो घर में पत्नी और बेटियां नहीं दिखीं। इसके बाद वह अपने ससुराल क्षेत्र के ही सुखड़ा बेलगांवा पहुंचा और साले से पत्नी के बारे में पूछा। साले रमाकांत ने बताया कि सीमा वहां नहीं आई है। परेशान देवीदास ने अपने अन्य रिश्तेदारों के यहां भी पता लगाया लेकिन पत्नी और बच्चियों का कहीं पता नहीं चल सका। इसके बाद 21 अगस्त को सीमा ने अपने भाई को फोन किया और बताया कि पति से विवाद के कारण वह बच्चियों के साथ इंदौर आ गई है। भाई ने उसे वापस आने को कहा। इसके बाद 22 अगस्त की शाम को सीमा वापस घर आ गई। भाई ने बच्चियों के बारे में पूछा तो उसने बताया कि इंदौर स्टेशन पर काम करने के लिए एक महिला को सौंप दिया है। इसके बाद देवीदास और रमाकांत सीमा को लेकर इंदौर गए और सीमा के बताए ठिकानों पर बच्चियों की काफी तलाश की। लेकिन उनके नहीं मिलने पर मायूस होकर वापस लौट आए। बुधवार को एक चरवाहे ने हर्रा जंगल में तीन नर कंकाल देखे तो उसने देवीदास को सूचना दी। इसके बाद देवीदास और रमाकांत ने कपड़ों के आधार पर बच्चियों की शिनाख्त की साथ ही पुलिस को भी सूचना दी। उधर बच्चियों के कंकाल मिलने की खबर लगते ही सीमा फरार हो गई। सीओ उमाशंकर सिंह और प्रभारी निरीक्षक राजकुमार मौके पर पहुंच गए और घटना के बाबत जानकारी प्राप्त की। बताया कि फारेंसिंक टीम शवों के कंकालों की जांच कर रही है।

Back to top button
error: Content is protected !!