fbpx
क्राइमबलियाराज्य/जिला

पुलिस फोर्स के सामने छलनी कर दिया सीना, एसडीएम, सीओ व एसएचओ सस्पेंड

बलिया। रेवती थाना क्षेत्र के दुर्जनपुर गांव में कोटे की दुकान आवंटन को लेकर पंचायत भवन में चल रही बैठक के दौरान दो पक्षों में विवाद हो गया। अधिकारियों के सामने न सिर्फ असलहों की नुमाइश की गई बल्कि पूलिस की मौजूदगी में एक व्यक्ति की गोली मारकर हत्या कर दी गई। आरोपित बीजेपी का नेता बताया जा रहा है। घटना से नाराज लोगों ने पथराव किया और जमकर लाठी डंडे भी चले। घटना में आधा दर्जन लोग घायल हो गए। सीएम योगी ने घटना का सज्ञान लेते हुए सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया। जिसके बाद मौके पर मौजूद रहे एसडीएम, सीओ और थाना प्रभारी सहित तीन पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया है। घटना के बाद गांव में तनाव व्याप्त है। एहतियात के तौर पर पुलिसबल की तैनाती की गई है।

गांव के पंचायत भवन परिसर में टेंट लगाकर हनुमानगंज और दुर्जनपुर गांवों में कोटे की दुकान आवंटन की प्रक्रिया शुरू की गई। दुर्जनपुर की दुकान के लिए मां सायर जगदंबा और शिव शक्ति स्वयं सहायता समूह के बीच वोटिंग कराने का निर्णय लिया गया। मौजूद एसडीएम सुरेश पाल और सीओ चंद्रकेश सिंह ने घोषणा की कि वहीं व्यक्ति वोटिंग करेगा जिसके पास आधार कार्ड या अन्य कोई पहचानपत्र है। आरोप है कि एक पक्ष के लोग कोई पहचानपत्र लेकर नहीं आए थे। लिहाजा दोनों पक्षों में विवाद होने लगा। इसके बाद एसडीएम ने बैठक स्थगित कर दी और अधिकारी वहां से निकल गए। लेकिन रेवती थाने की पुलिस मौके पर मौजूद थी। दोनों पक्षों के बीच विवाद शांत नहीं हुआ। गाली-गलौच के साथ पत्थरबाजी होने लगी। इसी बीच एक पक्ष के लोगों ने फायरिंग शुरु कर दी। दुर्जनपुर पुरानी बस्ती के रहने वाले जयप्रकाश उर्फ गामा पाल को चार गोलियां मारी गईं। उनकी मौके पर ही मौत हो गई। जबकि मारपीट में नरेंद्र सिंह 45, धर्मेंद्र 40, आराधना 43, आशा 40, अजय सिंह 50 और राजेंद्र 44 गंभीर रूप से घायल हो गए। मुख्य आरोपित धीरेंद्र प्रताप सिंह डब्लू बीजेपी का नेता बताया जाता है। मृतक के भाई की तहरीर पर नरेंद्र सिंह, प्रयाग सिंह, प्रभात, यशवंत, देवेंद्र, अमरजीत यादव और संतोष यादव सहित 25 अज्ञात के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। एसपी देवेंद्रनाथ मौके पर पहुंचे और आरोपितों की धरपकड़ के लिए टीम गठित करने का निर्देश दिया।

सीएम सख्त, कड़ी कार्रवाई के निर्देश
सीएम योगी आदित्यनाथ ने घटना को गंभीरता से लेते हुए सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मुख्य आरोपित के खिलाफ सख्त कार्रवाई और अधिकारियों की भूमिका की जांच के भी निर्देश दिए गए हैं। एसडीएम सुरेश पाल और सीओ चंद्रकेश सिंह, एसएचओ सहित मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया है।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button