fbpx
क्राइमचंदौलीराज्य/जिला

पीपी सेंटर बना अखाड़ा, मरीज और मेडिकल स्टाफ में जमकर मारपीट

चंदौली। मुगलसराय का राजकीय महिला चिकित्सालय इन दिनों चर्चा का केंद्र बना हुआ है। आप सोच रहे हैं कि अपनी उत्कृष्ट सेवाओं के लिए इसकी चर्चा हो रही है तो आप बिल्कुल गलत हैं। यहां कभी मरीजों से पैसे की मांग की जा रही है तो कभी मारपीट की नौबत आ जा रही है। बुधवार को ऐसा ही एक मामला सामने आया। कोविड अेस्ट कराने पहुंचे दो लोगों की लैब टेक्नीशियन से मारपीट हो गई। वहां लोगों की भारी भीड़ इकट्ठा हो गई। पूरी घटना अस्पताल के सीसी टीवी कैमरे में कैद हो गई। बहरहाल मामला पुलिस तक पहुंचा। पुलिस घटना में संलिप्त लोगों को लेकर थाने पहुंची। कोतवाली में प्रवेश करते ही दोनों पक्षों की सारी हेकड़ी उतर गई और आपस में सुलह कर ली।

यह भी पढ़ेंः आरोप! सुविधा शुल्क नहीं देने पर मरीज को धमकाती हैं पीपी सेंटर की दाई व नर्स

बुधवार को मानसनगर निवासी सुबेर और राजेश कुमार कोविड जांच कराने पीपी सेंटर पहुंचे। जांच को लेकर लैब टेक्नीशियन अविनाश से कुछ कहासुनी हो गई। इस दौरान बात इस कदर बिगड़ी कि दोनों में गाली गलौच शुरू हो गई और देखते ही देखते मारपीट तक होने लगी। दोनों पक्षों ने एब दूसरे पर जमकर लात घूंसे बरसाए। तकरीबन दस मिनट तक पीपी सेंटर अखाड़ा बना रहा।

यह भी पढ़ेंः खबर का असरः मरीज से पैसा मांगने वाली दाई की छुट्टी, नर्स को ये सजा

अस्पताल के अन्य कर्मचारी भी बचाव करने की बजाए मारपीट में शामिल हो गए। बहरहाल कुछ चिकित्सकों और अन्य लोगों ने मामले को संभाला और बीच बचाव कर मामला शांत कराया। इस बीच सूचना पाकर पुलिस भी पहुंच गई। दोनों पक्षों को कोतवाली लाई। कुछ देर थाने में बैठने के बाद दोनों को अकल आ गई और आपस में सुलह समझौता करना ही मुनासिब समझा। पुलिस ने भले ही दोनों पक्षों को सुलह के बाद छोड़ दिया लेकिन देखना यह कि विभागीय अधिकारी मामले में क्या संजीदगी दिखाते हैं।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!