fbpx
राजनीतिराज्य/जिलावाराणसी

अधिकारियों ने कुर्सी तक के लिए नहीं पूछा, नाराज हो गए भाजपा विधायक

वाराणसी। सब कुर्सी का ही खेल है। कुर्सी जो न करा दे। अब रविवार को रामनगर पालिका परिषद कार्यालय पहुंचे कैंट विधायक सौरभ श्रीवास्तव को देखने के बावजूद एसडीएम और अन्य अधिकारियों ने नजरअंदाज किया। किसी ने कुर्सी तक के लिए नहीं पूछा ना ही अपनी कुर्सी से उठे। यही बात विधायक को खल गई। तत्काल कार्यालय से निकल गए। उन्होंने मोबाइल पर नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन से बात कर समूचे मामले से अवगत कराया। उधर विधायक की नाराजगी की बात एसडीएम को पता चली तो सकपका गए। मनाने का काफी प्रयास किया। लेकिन विधायक ने भी साफ कह दिया कि कार्यालय आइए वहीं कोई बात होगी।
नगर पालिका परिषद रामनगर में ईओ का पद रिक्त चल रहा है। एसडीएम प्रशासनिक अधिकारी के तौर पर कार्यभार संभाले हुए हैं। रविवार को कैंट विधायक सौरभ श्रीवास्तव का निरीक्षण कार्यक्रम प्रस्तावित था। सबसे पहले विधायक वारीगड़ही स्थिति विद्यालय में जनसुनवाई के कार्यक्रम में शामिल हुए। इसके बाद सुल्तानपुर गांव में प्रस्तावित मैटेरियल रिकवरी फैसिलिटी प्लांट स्थल का निरीक्षण किया। ग्रामीणों की शिकायत पर प्रस्तावित कार्य रोकवा दिया। इसके बाद विधायक नगर पालिका परिषद कार्यालय पहुंचे। एसडीएम वहां अन्य अधिकारियों के साथ बैठे थे लेकिन विधायक को देखने के बाद भी कुर्सी के लिए नहीं पूछा। नाराज विधायक ने कार्यालय छोड़ दिया। विधायक का कहना है कि जब अधिकारी जनप्रतिनिधियों से इस तरह का बर्ताव कर रहे हैं तो आम जनता के साथ किस तरह पेश आते होंगे। पार्टी में ऊपर के लोगों को जानकारी दे दी गई है। वहीं एसडीएम प्रमोद पांडेय ने पत्रकारों को बताया कि विधायक के आते ही कुर्सी मंगवाई गई। दुव्र्यवहार की बात सरासर गलत है।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!