fbpx
राजनीतिराज्य/जिलावाराणसी

पूर्वांचल में सीएम योगी आदित्यनाथ, जानिए जौनपुर से बनारस तक दौरे की बड़ी बातें

वाराणसी। सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ शनिवार को पूर्वांचल दौरे पर पहुंचे। जौनपुर में मल्हनी विधान सभा उपचुनाव में सभा को संबोधित किया जबकि बनारस में विकास कार्यों का जायजा लिया। अधिकारियों से काशी का हाल जाना और आवश्यक दिशा-निर्देश भी दिए। कहा प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना में वाराणसी का देश में प्रथम स्थान पर होना गौरव की बात है, इसे बनाए रखें। संस्कृति, धर्म, आध्यात्म व शिक्षा की नगरी काशी अब विकास के लिए भी प्रेरणादायी बन रही है। वाराणसी में विकास की 9259.71 करोड़ रुपये की 136 बड़ी परियोजनाएं निर्माणाधीन हैं। श्री काशी विश्वनाथ कॉरिडोर अद्भुत एवं अकल्पनीय होगा। कहा कोरोना अभी खत्म नहीं हुआ है। वैक्सीन आने तक सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क जरूरी है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने वाराणसी दौरे के दौरान सर्किट हाउस सभागार में जनपद के विकास एवं निर्माणाधीन परियोजनाओं के प्रगति की विस्तार से समीक्षा की। जनपद में 9259.71 करोड़ रुपये की 136 बड़ी प्रमुख परियोजनाएं निर्माणाधीन है। जिसमे से 401.93 करोड़ रुपये की 26 परियोजनाएं इसी माह के अंत तक पूर्ण हो जाएंगी। 7.74 करोड़ रुपये की 2 परियोजनाएं नवंबर एवं 915.39 करोड रुपये की 25 परियोजनाएं इसी वर्ष दिसंबर महीने तक पूर्ण हो जाएंगी। जबकि 3396.26 करोड़ रुपये की 39 परियोजनाएं अगले वर्ष मार्च, 1827.94 करोड़ रुपये की 39 परियोजनाएं दिसंबर 2021 तथा 2710.46 करोड़ रुपये की 5 परियोजनाएं दिसंबर 2021 के बाद पूर्ण हो जाएंगी।

इन परियोजनाओं के पूरा होने के बाद संवरेगी काशी

804 करोड़ रुपये लागत की सुल्तानपुर- वाराणसी के फोरलेन चाौड़ीकरण राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजना का कार्य इसी वित्तीय वर्ष के अंत तक पूर्ण हो जाएगा। 785 करोड़ रुपये की फोरलेन चाौड़ीकरण घाघरा ब्रिज-वाराणसी सेक्शन परियोजना भी इसी वित्तीय वर्ष के अंत तक पूर्ण होकर जन सेवा को समर्पित होगी। वाराणसी- गाजीपुर फोरलेन चाौड़ीकरण सड़क जिसकी परियोजना लागत 868.50 करोड़ रुपये हैं, भी मार्च, 2021 तक पूर्ण हो जाएगी। वाराणसी के रिंग रोड फेज-2 की 1354.67 करोड़ रुपये की परियोजना पर तेजी से कार्य हो रहा है। अगले वित्तीय वर्ष के अंत तक यह पूर्ण हो जाएगा। राजमार्गों के ये चाौड़ीकरण वाराणसी के रोड कनेक्टिविटी में मील के पत्थर साबित होगे। पंचकोसी परिक्रमा मार्ग, भिखारीपुर तिराहे से एनएच-2 तक चाौड़ीकरण, कैंट से पड़ाव मार्ग का चाौड़ीकरण की तीनों परियोजनाएं 144 करोड़ रुपये की इसी वर्ष दिसंबर, 2020 तक पूर्ण हो जाएंगी। कपसेठी पर आरओवी व कालिकाधाम पर वरुणा नदी सेतु जून, 2021 तक बन जाएंगे। जो भदोही आगमन को बड़ी सहूलियत देंगे। वाराणसी-गाजीपुर मार्ग पर आरओबी, वरुणा पर कोनिया-सलारपुर सेतु अगले 4 माह में पूर्ण हो जाएंगे। लहरतारा-फुलवरिया मार्ग पर दो आरओवी, एक वरुणा नदी पर पुल तथा फोरलेन सड़क निर्माण कार्य तेजी से प्रगति पर है और 40 फीसदी कार्य पूर्ण हो चुका है। यह परियोजना अगले वर्ष दिसंबर, 2021 तक पूर्ण करने की रणनीति बनायी गई है। कुकिंग गैस पाइपलाइन से घरों में सप्लाई हेतु क्रियान्वित 345 करोड़ रुपये की परियोजना में 50 फीसदी कार्य पूर्ण हो चुका है। 21360 घरों में जीआई पाइपलाइन इंफ्रास्ट्रक्चर का कार्य पूर्ण हो चुका है। बेहतर विद्युतीकरण व्यवस्था हेतु नगवा व अलईपुर में विद्युत सब स्टेशन निर्माण हो रहा है। शहर की समस्त शेष ओवरहेड लाइनों को भूमिगत केबल में परिवर्तित करने एवं आधुनिकीकरण करने की कार्य योजना पर कार्य किया जा रहा है। शहर में सुगम यातायात व्यवस्था सुनिश्चित कराये जाने हेतु वाहन पार्किंग की बेहतर सुविधा के लिए गोदौलिया पर दो पहिया वाहन पार्किंग, सर्किट हाउस के पास विशाल भूमिगत पार्किंग, बेनियाबाग में बड़ी भूमिगत पार्किंग, टाउनहॉल के पास पार्किंग स्थल तेजी से निर्माणाधीन है। बेहतर चिकित्सा व्यवस्था की दृष्टि से वाराणसी पूर्वी उत्तर प्रदेश सहित इससे जुड़े प्रदेशों के लिए चिकित्सा का हब बन गया है। बीएचयू में चिकित्सा विंग के विस्तारीकरण, मौलाना साद ट्रामा सेंटर व कैंसर इंस्टिट्यूट के विस्तारीकरण के अलावा विभिन्न राजकीय व मंडलीय चिकित्सालयों सहित ग्रामीण क्षेत्रों में चिकित्सा व्यवस्था का विस्तार व नवीनतम टेक्नोलॉजी युक्त बनाया जा रहा है। काशी के प्रसिद्ध गंगा घाटों को सुदृढ़ीकरण कराकर पर्यटकों के लिए आकर्षण बनाया जा रहा है। गंगा की स्वच्छता, निर्मलता व अविरलता हेतु विभिन्न एसटीपी का निर्माण, ट्रांस वरुणा सीवरेज, हाउस सीवरेज का एसटीपी से कनेक्शन आदि पर योजनाएं लागू की गई हैं।

स्मार्ट सिटी में वाराणसी देश में प्रथम स्थान पर है

259.43 करोड़ रुपए की 15 परियोजनाएं पूर्ण हो चुकी हैं। स्मार्ट सिटी में शहर में 519.40 करोड़ रुपए की 22 परियोजनाएं एवं 51.52 करोड़ रुपए की 4 परियोजनाएं कन्वर्जेस के कार्य की प्रगति पर है। 87.36 करोड़ रुपए की 2 परियोजनाओं के कार्यों हेतु टेंडर प्रक्रिया की जा रही है। इसके अतिरिक्त 60 करोड़ रुपये की 2 परियोजनाएं अन्य विभाग की भी टेंडर प्रक्रिया जारी है। डॉक्टर संपूर्णानंद स्पोर्ट्स स्टेडियम में 22 करोड़ रुपए से फर्नीचर एवं खेल उपकरण व्यवस्था परियोजना का भी टेंडर प्रक्रिया की जा रही है। स्मार्ट सिटी में किए जा रहे प्रमुख कार्यों में नगर के बीचो-बीच मछोदरी में स्मार्ट स्कूल का 14.21 करोड़ रुपये से निर्माण जो अगले 3 माह में तैयार हो जाएगा। गंगा के 84 घाटों पर एकरूपता से सूचना पट्ट लगाए जाने का निर्माण कार्य इसी वर्ष के अंत तक हो जाएगा। पांडेयपुर, चकरा, सोनभद्र, नदेसर एवं चितईपुर के तालाबों का 15.40 करोड़ रुपए से विकास एवं सौंदर्यीकरण कार्य जनवरी,2021 तक हो जाएगा।

वाराणसी का कोरोना संक्रमित का रिकवरी रेट 91.4 फीसदी हैं

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोना से बचाव एवं चिकित्सकीय व्यवस्था की भी विस्तार से समीक्षा की। जनपद में कोरोना से मृत्यु दर 1.6 फीसदी हैं। अब तक 338877 लोगों की टेस्टिंग हो चुकी है। पॉजिटिव रेट 5.2 फीसदी हैं। कोरोना पॉजिटिव मरीजों के चिकित्सा हेतु 1462 बेड उपलब्ध है। राज्य सरकार, स्टेट फाइनेंस कमिशन व नेशनल हेल्थ मिशन द्वारा बीएचयू व जनपद स्वास्थ्य विभाग को 11.38 करोड़ रुपए कोरोना से बचाव व चिकित्सकीय की व्यवस्थाओं हेतू उपलब्ध कराया गया है। कमिश्नर दीपक अग्रवाल एवं जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने प्रजेंटेशन के माध्यम से विकास एवं निर्माणाधीन परियोजनाओं के साथ-साथ कोरोना चिकित्सा व्यवस्था के संबंध में अवगत कराया।
उत्तर प्रदेश के पर्यटन, संस्कृति, धर्मार्थ कार्य एवं प्रोटोकॉल राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) नीलकंठ तिवारी, स्टांप एवं न्यायालय पंजीयन शुल्क राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) रविंद्र जायसवाल के अलावा एमएलसी लक्ष्मण आचार्य, एमएलसी अशोक धवन, विधायक डॉ अवधेश सिंह, विधायक सुरेंद्र नारायण सिंह सहित अन्य विभागों के अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button