fbpx
क्राइमचंदौली

Chandauli News : ऊंट की तस्करी का सनसनीखेज मामला, डीसीएम में लादकर ले जाए जा रहे 15 ऊंट को कराया मुक्त, तीन शातिर तस्करों को किया गिरफ्तार

चंदौली। सैयदराजा पुलिस ने शनिवार को नौबतपुर से डीसीएम में लादकर ले जाए जा रहे 15 ऊंटों को मुक्त कराया। वहीं तीन तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। तस्कर राजस्थान से ऊंटों को डीसीएम में लादकर बिहार के रास्ते पश्चिम बंगाल ले जाने की फिराक में थे। उनसे पूछताछ के साथ ही पुलिस विधिक कार्रवाई में जुटी रही।

 

सैयदराजा प्रभारी निरीक्षक सत्यनारायण मिश्रा को सूचना मिली कि पशु तस्कर नौबतपुर के रास्ते ऊंटों को बिहार होते हुए पश्चिम बंगाल ले जाने की फिराक में हैं। इस पर पुलिस एक्टिव हो गई। प्रभारी निरीक्षक सैयदराजा सत्यनारायण मिश्रा के नेतृत्व में उपनिरीक्षक आलोक कुमार सिंह हमराहियों संग हाईवे पर पहुंचे। नौबतपुर पुलिस पिकेट के पास वाहनों की चेकिंग करने लगे। थोड़ी देर बाद एक डीसीएम आता दिखा। तस्करों ने पुलिस को चकमा देने के लिए ऊपर से तिरपाल बांध रखा था। पुलिस ने संदेह के आधार पर वाहन को रोककर तलाशी ली। इस दौरान डीसीएम में क्रूरतापूर्वक मुंह व पैर बांधकर लादे गए ऊंट बरामद किए गए। एक ऊंट की मृत्यु हो चुकी थी।

 

इस पर पुलिस ने डीसीएम में सवार तीनों तस्करों को गिरफ्तार कर लिया। गिरफ्तार अभियुक्त बहराईच जिले के थाना नानपारा के ताजपुर गांव निवासी वसीम खान, रिजवान खान और बागपत जिले के बागपत थाना के बागपत गांव निवासी आमिर ने बताया कि राजस्थान से ऊंट डीसीएम में लादकर पश्चिम बंगाल के आसनसोल लेकर जा रहे थे। वाहन राजस्थान के जयपुर, भरतपुर, आगरा, इटावा, कानपुर, वाराणसी,चन्दौली, बिहार होते हुए आसनसोल जाने वाला था। पुलिस ने तत्काल पशु चिकित्साधिकारी को सूचित कर बुलाया। ऊंटों के चारा-पानी की व्यवस्था कराई गई। वहीं उपचार भी कराया जा रहा है। सीओ सदर राजेश राय ने बताया कि गिरफ्तार तस्करों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर अग्रिम कार्रवाई की जा रही है।

Back to top button
error: Content is protected !!