fbpx
क्राइमचंदौलीराज्य/जिला

चंदौली स्वास्थ्य विभाग में हो गया बड़ा खेल, शासन ने बैठाई जांच, रद होगी भर्ती

चंदौली। स्वास्थ्य विभाग में बीते जनवरी और फरवरी माह में आयुष चिकित्सक, एएनएम और फार्मासिस्ट भर्ती में अनियमितता का मामला सामने आया है।  तत्कालीन सीएमओ ने सेवानिवृत्ति से पहले मानकों का अनुपालन किए बिना ही धड़ाधड़ नियुक्ति कर दी। जिस दिन साक्षात्कार आयोजित किया गया उसी दिन शाम को परिणाम घोषित करने के साथ नियुक्ति पत्र भी दे दिया गया। सकलडीहा विधायक प्रभुनारायण सिंह यादव ने विधान सभा में मामले को उठाया, जिसे शासन ने गंभीरता से लेते हुए भर्ती प्रक्रिया को रद करने की मंशा जाहिर करते हुए मामले की जांच के निर्देश दिए हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन निदेशक से जांच कर 15 दिन में रिपोर्ट देने को कहा गया है। शासन के इस कदम से सीएमओ कार्यालय के अधिकारियों और कर्मचारियों में खलबली मची हुई है। भ्रष्टाचार में लिप्त कई कर्मचारी कार्रवाई की जद में आ सकते हैं।
जिले के पांच सामुदायिक और चार प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में पांच आयुष चिकित्सक, चार एएनएम और दो फार्मासिस्ट की नियुक्ति के लिए सीएमओ कार्यालय की ओर से 29 व 30 जनवरी और 19 फरवरी को साक्षात्कार के जरिए चयन कर लिया गया। एक ही दिन में परिणाम घोषित कर नियुक्ति पत्र भी दे दिया गया। सकलडीहा विधायक ने चयन प्रक्रिया पर सवाल खड़े करते हुए विधान सभा में मामने को उठाया। कहा कि चयन मनमाने तरीके से किया गया है। चिकित्सकों का पैनल मानक के अनुरूप नहीं बनाया गया ना ही आरक्षण प्रणाली का ध्यान रखा गया। विधान सभा सचिवालय की ओर से इसपर शासन से जवाब मांगा गया है। सविच आनंद कौशिक ने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन को जांच कर 15 दिन में रिपोर्ट देने को कहा है। सीएमओ डा. वीपी द्विवेदी का कहना है कि जिस दिन साक्षात्कार हुआ उसी दिन अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र दे दिया गया। संयुक्त निदेशक स्वास्थ्य जांच के लिए आए थे। उन्हें पूरी जानकारी दी गई है। वे अपने साथ कुछ अभिलेख भी ले गए हैं।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Content is protected !!