fbpx
चंदौलीराज्य/जिला

कोविड टीकाकरण के पहले ही मोर्चे पर चंदौली फेल, चिकित्सकों ने किया निराश, जानिए अन्य जिलों का हाल

 

चंदौली। कोरोना ने जनजीवन को किस कदर प्रभावित किया यह बताने की आवश्यकता नहीं है। अब जबकि इस महामारी को हराने की बारी आई तो पहले ही मोर्चे पर चंदौली जिला फिसड्डी साबित हुआ। कोविड टीकाकरण के मामले में यहां लक्ष्य के सापेक्ष महज 45.62 फीसद लोगों ने ही टीका लगवाया। 13 बूथों पर 1300 के लक्ष्य के सापेक्ष 592 ने ही डोज लगवाई। चिकित्सक व स्वास्थ्यकर्मी टीका लगवाने से कतराते रहे। जब चिकित्सकों की यह स्थिति है तो आम लोगों में किस तरह जागरूकता आएगी। ।
पहले चरण के अभियान के तहत जिले में 16 जनवरी को चार बूथों पर 400 लोगों को टीका लगना था। लेकिन 287 को ही टीका लगा। 22 जनवरी को जिला संयुक्त चिकित्सालय के एमसीएच (मातृ व शिशु विंग), सदर पीएचसी, चकिया संयुक्त चिकित्सालय, नौगढ़, बरहनी, पीडीडीयू नगर में 13 बूथ बनाए गए थे। प्रत्येक बूथ पर 100-100 लोगों को टीका लगना था। ऐसे में जिले में कुल 1300 लोगों का टीकाकरण होना था। लेकिन सुबह 10.30 से शाम पांच बजे तक मात्र 592 चिकित्सकों व स्वास्थ्यकर्मियों ने ही डोज लगवाई। ऐसे में जनपद प्रदेश में कोरोना टीकाकरण के मामले में फिसड्डी जिलों में शामिल हो गया है।

प्रदेश के अन्य जनपदों का हाल

इटावा में सबसे कम टीकाकरण हुआ। यहां 1718 के लक्ष्य के सापेक्ष 675 ने वैक्सीन लगवाई। आंकड़ा 39.29 फीसद है। शाहजहांपुर में 2467 के लक्ष्य के सापेक्ष 1049 ने टीका लगवाया। आंकड़ा 42.52 फीसद रहा। फिरोजाबाद में 2006 के लक्ष्य के सापेक्ष 920 यानी 45.86 फीसद, रामपुर में 1200 के लक्ष्य के सापेक्ष 564 यानी 47 फीसद, बांदा में 1267 के सापेक्ष 615 यानी 48.86 फीसद, गौतमबुद्ध नगर में 4200 के लक्ष्य के सापेक्ष 2059 यानी 49.02 फीसद चिकित्साकर्मियों ने टीका लगवाया। अगले चरण का टीकाकरण 28 व 29 जनवरी को होगा। स्वास्थ्य विभाग नए सिरे से लोगों को टीकाकरण के लिए जागरूक करने की योजना बना रहा है। एसीएमओ डाक्टर डीके सिंह ने बताया कि कोरोना टीकाकरण के मामले में जनपद थोड़ा पीछे जरूर है। लेकिन लक्ष्य के सापेक्ष शत प्रतिशत टीकाकरण की प्रयास जारी है। कोरोना वैक्सीन की दूसरी खेप भी पहुंच गई है। यहां आठ हजार डोज पहुंची। इसे सीएमओ कार्यालय में सुरक्षित रखवा दिया गया है। नई वैक्सीन अक्टूबर में बनी है। इसकी एक्सपायरी तिथि आठ मई 2021 तक है।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button