ख़बरेंचंदौली

Chandauli News : कुर्सियां खाली, कार्यकर्ता बेजान, आखिर कैसे परवान चढ़ेगा सपा का पीडीए पखवारा अभियान

चंदौली। चकिया विकासखंड के नेगुरा ग्राम पंचायत में समाजवादी पार्टी की ओर से विधानसभा स्तर पर पीडीए पखवारा अभियान के तहत कार्यक्रम का आयोजन किया गया। समाजवादी पार्टी के विभिन्न प्रकोष्ठों के राष्ट्रीय पूर्व पदाधिकारियों के उपस्थिति होने के बाद भी कुर्सियां खाली रह गईं। इसको लेकर लोगों में चर्चाएं रहीं।

 

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर पीडीए के तहत गांव में पार्टी से जोड़ने के लिए विधानसभा वार कार्यक्रम आयोजित किया जा रहे हैं। इसी कड़ी में नेगुरा गांव में कार्यक्रम का आयोजन किया गया  लेकिन, जहां पर वर्तमान व पूर्व में राष्ट्रीय पदाधिकारी विभिन्न संगठनों की उपस्थित थे। इसके बावजूद भी कई कुर्सियां खाली रही। वहीं विधानसभा अध्यक्ष चकिया प्रभु नारायण सिंह यादव ने कहा कि लोग सपा की इस कार्यक्रम से जुड़ रहे हैं लेकिन किसानी के सीजन होने के कारण खाली रह गई। क्योंकि लोग कार्यक्रम में शिरकत करने के बाद अपने कार्य को देखते हुए घर लौट गए।

 

सपा नेताओं ने सरकार की जनविरोधी नीतियों पर किया प्रहार

चंदौली। चकिया विधानसभा क्षेत्र के नेगुरा ग्राम पंचायत में सपा की ओर से आयोजित पीडीए पखवारा कार्यक्रम में सपा नेताओं ने सरकार की जनविरोधी नीतियों पर तीखा प्रहार किया। चकिया विधानसभा अध्यक्ष प्रभु नारायण सिंह यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष, पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव देश के इकलौते नेता हैं, जो समाज के उपेक्षित वर्गों, गरीबों, किसानों, पिछड़ों, दलितों, अल्पसंख्यकों, महिलाओं की लड़ाई मजबूती से लड़ रहे हैं। सत्ताधारी भाजपा संविधान और आरक्षण को खत्म करना चाहती है। बीजेपी देश को गुलामी की ओर ले जाना चाहती है। मुसाफिर चौहान ने कहा कि बिहार में मुख्यमंत्री रहते कर्पूरी ठाकुर ने जिस प्रकार पिछड़े वर्गों को आरक्षण देकर उनका सम्मान बढ़ाया है। उसी तरह से अखिलेश यादव आबादी के हिसाब से हिस्सेदारी दिलाने की लड़ाई लड़ रहे है। जिला पंचायत सदस्य रमेश यादव ने कहा कि विपक्ष के दबाव में ही भारत सरकार को जननायक कर्पूरी ठाकुर को भारतरत्न देना पड़ा है। केंद्र और प्रदेश सरकार दोनों समाज के लिए घातक है ऐसी सरकार से हम सभी को सतर्क करने की जरूरत है। इस दौरान इमरान सिद्दीकी, अशोक त्रिपाठी, त्रिलोकी पासवान, अखिलेश यादव, मुकेश यादव, घासी चौहान, राम सिंह चौहान आदि रहे।

Related Articles

Back to top button
error: Content is protected !!