fbpx
राजनीतिराज्य/जिलावाराणसी

बनारस में इन सपाइयों के खिलाफ मुकदमा, घायल कार्यकर्ताओं से मिले पूर्व मंत्री

वाराणसी। प्रदेश और देश में बढ़ती बेरोजगारी, अपराध और रोजगार आदि अहम मुद्दों पर सरकार के खिलाफ जनपद मुख्यालयों पर प्रदर्शन करने वाले सपा कार्यकर्ताओं पर पहले लाठी चार्ज की गई अब मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है। वाराणसी में भी डीएम की सख्ती के बाद सपाइयों पर कैंट थाने में मुकदमा लिखा गया है।
इनके खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा
उधर कैण्ट थाने में प्रदर्शन को लेकर वाराणसी पुलिस ने शिवशंकर यादव, अमन यादव, किशन दीक्षित, राहुल सोनकर, किशन सेठ, राहुल सिंह यादव, संदीप सिंह साव, दीपचन्द गुप्ता, रविकान्त विश्वकर्मा, अखिलेश यादव सहित लगभग 150 अज्ञात के विरुद्ध धारा 145, 147, 149, 336, 188, 283, 332, 353, 269, 270 भादवि, 7 सीएलए एक्ट, 51 आपदा प्रबन्धन अधिनियम व 3 महामारी अधिनियम पंजीकृत किया गया है। एसपी सिटी विकास चन्द्र त्रिपाठी के अनुसार 51 लोगों की गिरफ्तारी हुई है।

पूर्व कैबिनेट मंत्री ने की घायलों से मुलाकात
पूर्व कैबिनेट मंत्री और दिग्गज सपा नेता ओमप्रकाश सिंह ने मंगलवार को जिला अस्पताल पहुंचकर लाठीचार्ज में घायल कार्यकर्ताओं का हाल जाना। जिला मुख्यालय पर बेरोजगारी, बढ़ते अपराध को लेकर प्रदर्शन कर रहे सपा कार्यकर्ताओं पर जिला प्रशासन ने लाठीचार्ज कर दिया था। जिसमें दर्जनों कार्यकर्ता गंभीर रूप से चोटिल हुए हैं। कुछ घायलों को कबीरचैरा भर्ती किया गया है, जिनका इलाज चल रहा है।ओमप्रकाश सिंह ने कहा कि प्रदेश में अपराध बेलगाम हो गया है। बेरोजगारी चरम पर है। डंडे के दम पर सपाइयों की आवाज को सरकार दबा नहीं सकती। आगामी चुनावों में प्रदेश की जनता झूठी और घमंडी सरकार को उखाड़ फेंकने का काम करेगी।
आंदोलनों को लेकर डीएम सख्त
समाजवादी पार्टी कार्यकर्ताओं के उग्र प्रदर्शन के बाद जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने कड़ा रुख अपनाया है। स्पष्ट कहा है कि कोई भी राजनीतिक कार्यक्रम सार्वजनिक रूप के करना भारत सरकार द्वारा कोरोना संक्रमण काल मे अगले आदेशों तक प्रतिबंधित है। कलेक्ट्रेट जैसी सार्वजनिक भीड़- भाड़ जैसी जगह पर एक समूह में कार्यक्रम प्रतिबंधित है। कोई भी इसका उल्लंघन करेगा तो सख्त कार्यवाही होगी। ज्ञापन आदि के कार्य के लिए केवल धरना स्थल शास्त्री पुल, वरुणा घाट तय है।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button