fbpx
क्राइमचंदौलीराज्य/जिला

मंत्री जी के कस्बे में जेई व मेठ की हिमाकत, सीएम तक पहुंची शिकायत

चंदौली। पीडब्ल्यूडी की जमीन में नाले का निर्माण करा रहे जेई और मेठ को कुछ और नहीं मिला तो मिट्टी ही बेच रहे हैं। अब तक हजारों रुपये का भ्रष्टाचार कर चुके हैं। बहरहाल मामले की शिकायत सीएम पोर्टल और ट्वीट के जरिए मुख्यमंत्री और जिले के डीएम तक पहुंच चुकी है। विभागीय जांच भी शुरू हो गई है। लेकिन दोषी अभी कार्रवाई की जद से बाहर हैं। हैरतअंगेज यह कि यूपी सरकारी में कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर का गृह क्षेत्र होने के बावजूद मेठ ने यह हिमाकत कर डाली।
कैबिनेट मंत्री की पहल पर शुरू हुआ काम
चंदौली के सकलडीहा कस्बा मे कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर की पहल पर कस्बे से दो किलोमीटर की दूरी तक सड़क की दोनों पटरियों पर नाला बनाने के लिए करोड़ों की लागत से निर्माण का काम कराया जा रहा है। आरोप है कि पीडब्लूडी के जेई और मेठ नाले की खुदाई से निकली माटी धड़ल्ले से स्थानीय लोगों कासे बेच रहे हैं। दरअसल सकलडीहा कस्बा में आए दिन बरसात के मौसम में सड़क पर जलजमाव की स्थिति पैदा होती थी। सकलडीहा कस्बे के व्यापारी कई बार मनोज सिंह काका के नेतृत्व में आंदोलन भी कर चुके हैं। कस्बा सकलडीहा में कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर का आवास भी है। बहरहाल शासन स्तर पर 2 करोड़ 60 लाख की लागत से नाला निर्माण के लिए धन स्वीकृत किया गया। ठेकेदार द्वारा सड़क के दोनों किनारो पर एक मीटर गहरा और एक मीटर चाौड़ा नाला का निर्माण का कार्य कराया जा रहा है। देखरेख की जिम्मेदारी पीडब्ल्यूडी की है। आरोप है कि जेई और मेठ नाला खुदाई से निकली मिट्टी को बेच मालामाल हो रहे हैं। स्थानीय नागरिक सत्यनारायण प्रसाद ने मुख्यमंत्री सीएम पोर्टल एवं ट्वीट के माध्यम से जिलाधिकारी को अवगत कराया है। आरोप लगाया है कि मिट्टी को सड़क पर ना पाटकर ₹400 प्रति ट्रैक्टर के हिसाब से बेचा जा रहा है। व्यापार मंडल के अध्यक्ष का कहना है कि दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई नहीं हुई तो हम आंदोलन के लिए बाध्य होंगे।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button