ख़बरेंचंदौलीराज्य/जिला

एसपी साहब! यह ओवरलोडिंग नहीं तो और क्या है?

चंदौली। सरकार सड़कों पर पानी की तरह पैसा बहा रही है। बावजूद उनकी सेहत सुधर नहीं रही। निर्माण में गुणवत्ता की अनदेखी एक वजह हो सकती है लेकिन सड़कों के क्षतिग्रस्त होने का सबसे बड़ा कारण ओवरलोडिंग ही है। ग्रामीण सड़कों पर पुलिस की मिलीभगत से बालू लदे ओवरलोड ट्रक बेधड़क फर्राटा भर रहे हैं। पुलिस कप्तान कार्रवाई का चाबुक जरूर चला रहे लेकिन मातहत हैं कि सुधरने का नाम नहीं ले रहे। मंगलवार की देर रात धानापुर वाया सकलडीहा मार्ग पर बालू लेकर जा रहा ओवरलोड ट्रक पांडेयपुर करजरा गांव के समीप पलट गया। ड्राइवर किसी तरह निकल कर भागने में कामयाब रहा। घटना ने धीना पुलिस की मुस्तैदी और कार्यप्रणाली की भी पोल खोल दी।

लोक निर्माण विभाग उच्चाधिकारियों को चिट्ठी लिखकर थक गया। विभाग का कहना है कि ओवरलोडिंग के चलते सडकें टूट रही हैं। शासन भी इसे लेकर सख्त है। जिले के एसपी हेमंत कुटियाल लापरवाह पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई भी कर चुके हैं। लेकिन माया के आगे सब बेबस हैं। कम से कम धीना पुलिस की लापरवाही धानापुर-जमानियां मार्ग पर ट्रक पलटने के साथ ही सामने आ गई। लोगों का कहना है कि पुलिस की मिलीभगत से रात्रि में ओवर लोड वाहन बेरोक टोक धड़ल्ले से चल रहे हैं। यही नहीं बोगा ट्रैक्टर भी तुलसी आश्रम हो कर डिलिया, कुटिया इनायतपुर होते हुए आते-जाते हैं। सड़कों के टूटने का खामियाजा राहगीरों को भुगतना पड़ रहा है जबकि सरकार को राजस्व का नुकसान हो रहा है वह अलग।

Leave a Reply

Back to top button
error: Content is protected !!