fbpx
चंदौलीचुनाव 2024

Loksabha Election 2024 : चंदौली में झूम के पड़े वोट फिर भी पिछले चुनाव से पीछे रह गया जिला, 59.16 फीसद मतदान

चकिया विधानसभा मतदान में सबसे आगे, मुगलसराय सबसे पीछे महिलाओं में भी दिखा रूझान, घरों से निकलकर किया मतदान जिले में सुबह सात से शाम 6 बजे तक चली मतदान की प्रक्रिया

चंदौली, लोकसभा चुनाव, मतदान
  • चकिया विधानसभा मतदान में सबसे आगे, मुगलसराय सबसे पीछे महिलाओं में भी दिखा रूझान, घरों से निकलकर किया मतदान जिले में सुबह सात से शाम 6 बजे तक चली मतदान की प्रक्रिया
  • चकिया विधानसभा मतदान में सबसे आगे, मुगलसराय सबसे पीछे
  • महिलाओं में भी दिखा रूझान, घरों से निकलकर किया मतदान
  • जिले में सुबह सात से शाम 6 बजे तक चली मतदान की प्रक्रिया

चंदौली। जिले में लोकसभा चुनाव के लिए अंतिम चरण में शनिवार को वोट पड़े। मतदान को लेकर चंदौलीवासियों में रूझान देखने को मिला। जिले में कुल 59.16 प्रतिशत मतदान हुआ। इसमें चकिया विधानसभा में सर्वाधिक 62.54 फीसद वोटिंग हुई, जबकि मुगलसराय में सबसे कम 56.11 प्रतिशत वोट पड़े। पिछले लोकसभा चुनाव के मतदान से इस बार जिला पीछे रह गया। इस बार पिछले चुनाव से 1.33 फीसद कम वोटिंग हुई। 2019 के लोकसभा चुनाव में जिले में 61.71 प्रतिशत वोटिंग हुई थी। मतदान को लेकर प्रशासन अलर्ट नजर आया। अधिकारी व मजिस्ट्रेट बूथों का चक्रमण कर हालात का जायजा लेते रहे।

 

लोकसभा चुनाव के लिए सुबह सात बजे मतदान की प्रक्रिया शुरू हुई। पहले दो घंटों में चंदौली में 14.88 फीसद मतदान हुआ। आज मौसम ने भी साथ दिया। आसमान में बादलों की आवाजाही रही। इसके चलते धूप-छांव का खेल चलता रहा। दोपहर में भी बूथों पर मतदाताओं की कतार दिखी। दिन चढ़ने के साथ ही मतदान का आंकड़ा भी बढ़ता गया। 11 बजे तक 30.12 प्रतिशत वोटिंग हुई। दोपहर एक बजे तक मतदान 42.06 फीसद मतदान हुआ। वहीं तीन बजे तक 51 प्रतिशत वोट पड़े। शाम 6 बजे तक जिले में कुल 59.16 प्रतिशत मतदान हुआ।

 

मतदान को लेकर लोगों में सुबह से ही उत्साह रहा। इसकी बदौलत पूर्वी उत्तर प्रदेश की 13 सीटों पर हुए मतदान में चंदौली काफी आगे रहा। इस दौरान जिला प्रशासन भी अलर्ट नजर आया। जिला निर्वाचन अधिकारी निखिल टी फुंडे, एसपी डा. अनिल कुमार समेत अधिकारी बूथों पर चक्रमण करते रहे। गर्मी को देखते हुए मतदान केंद्रों पर छाया, पेयजल समेत अन्य जरूरी इंतजाम किए गए थे। मतदान के बाद पोलिंग पार्टियां ईवीएम लेकर निर्धारित वाहनों से रवाना हुईं। ईवीएम को मुख्यालय स्थित नवीन मंडी में बनाए गए स्ट्रांग रूम में सीसीटीवी कैमरे की निगरानी में रखवाया जाएगा। स्ट्रांग रूम को सील करते समय प्रत्याशियों के अभिकर्ता व प्रतिनिधि भी मौजूद रहेंगे। ताकि पारदर्शिता बनी रहे। 4 जून को मतगणना के वक्त स्ट्रांग रूम का ताला खुलेगा और ईवीएम बाहर निकाली जाएंगी।

 

Back to top button
error: Content is protected !!