संस्कृति एवं ज्योतिष

Vastu Tips: अपने सपनों का घर खरीदते समय टॉयलेट की दिशा का जरूर रखें ध्यान, वरना छिन जाएगा परिवार का सुख-चैन

वास्तु शास्त्र में आज हम बात करेंगे घर में शौचालय की दिशा के बारे में। होगा। सबसे पहले शुरुआत करते हैं पूर्व दिशा से। पूर्व दिशा में शौचालय बनवाने से आपकी जीवन की गति गडबड़ा सकती है। आपके ऊपर मुसीबतों के बादल घराने लगेंगे।आपके बड़े बच्चे की तरक्की में बाधा होगी। उन्नति का मार्ग अवरूद्ध हो सकता है। जीवन में एक ठहराव की स्थिति हो सकती है और जैसे रूका हुआ पानी सड़ जाता है, वैसे ही जीवन में ऊब महसूस होने लगती है।

वास्तु के अनुसार हमारे पैरों पर इस दिशा के शौचालय का बुरा असर पड़ सकता है और हर दिन सुबह 5 से 7 बजे के बीच हमें आवांछित स्थिति का सामना करना पड़ सकता है। अगर किसी वजह से आपके घर की पूर्व दिशा में शौचालय है तो शौचालय की छत में बांस का प्रयोग करके दुष्टप्रभावों को कम करने की कोशिश की जा सकती है।

वास्तु शास्त्र के मुताबिक, दक्षिण-पूर्व दिशा में शौचालय का निर्माण शुभ नहीं है। इस दिशा में शौचालय होने से धन की हानि संभव है। व्यापार और विकास में बाधा होगी। हरा रंग आपको हर तरह से नुकसान देने लगेगा। हर साल गर्मी शुरू होते ही आपके व्यापार और करियर में गिरावट आएगी। अगर आपकी बेटी बड़ी है तो उसको बहुत तरह की समस्याएं हो सकती हैं। सुबह 7 से 9 बजे का समय आपके लिए रोज ही उलझनों का संदेश लेकर आएगा। आपकी पेल्विक गर्डिल का अलाइनमेंट बिगड़ सकता है।

अगर किसी वजह से आपके घर के अग्नि कोण, यानि दक्षिण-पूर्व के कोने से शौचालय को हटाना संभव नहीं है तो उस दिशा में ज्यादा से ज्यादा लकड़ी लगाकर और वहां समुद्री नमक का एक कटोरा रख देने से दुष्टप्रभावों को कम करने की कोशिश की जा सकती है।

Back to top button
error: Content is protected !!