fbpx
क्राइमचंदौलीराज्य/जिला

कमरे में सो रहा था पूरा परिवार, सिरफिरे पति ने लगाई आग, चार झुलसे

मिर्जापुर। हलिया थाना के मवई खुर्द गांव में गुरुवार की रात सिरफिरे ने कमरे में सो रही पत्नी, पुत्री, पुत्र व नाती को जान से मारे की नियत से मिट्टी का तेल छिड़कर आग लगा दी। चारों लोग गंभीर रूप से झुलस गए। पुलिस ने उपचार के लिए सभी को प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पहुंचाया। महिला की हालत गंभीर होने पर ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया। जानकारी होते ही एसपी सहित आलाधिकारी मौके पर पहंुच गए। आरोपित के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस के अनुसार पति-पत्नी के बीच आए दिन झगड़ा होता रहता था।
मवई खुर्द निवासी अशोक पाल ने गुरुवार की देर रात बगल के कमरें में सो रही पत्नी गीता पाल (40), बेटी प्रीति पाल (25), बेटा शिवबाबू व प्रीति का बेटा आशीष (5) को जान से मारने की नियत से मिट्टी का तेल छिड़कर कमरें में आग दी। कमरे में मौजूद चारों लोग आग की चपेट में आकर गंभीर रूप से झुलस गई। चीख-पुकार सुनकर पड़ोसी पंहुचे और आग बुझाई। पुलिस गंभीर रूप से झुलसे सभी लोगांे को उपचार के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र लेकर आई। प्राथमिक उपचार के बाद सभी को मंडलीय चिकित्सालय के लिए रेफर कर दिया गया। मंडलीय चिकित्सालय में प्रीति की उपचार के बाद हालत गंभीर देखकर ट्रामा सेंटर रेफर कर दिया गया। गीता की मां रामपुर नौडिहवा निवासी लखवंती ने दामाद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस अधीक्षक अजय कुमार सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक नक्सल महेश सिंह अत्रि, सीओ लालगंज उमाशंकर सिंह, प्रभारी निरीक्षक विपिन सिंह ने घटनास्थल पर पंहुचकर लोगों से पूछताछ की। ग्रामीणों ने बताया कि अशोक और पत्नी गीता के बीच संबंध ठीक नहीं थे आए दिन विवाद होता रहता था। अशोक के पिता मोतीलाल ने दो शादी की थी जिससे पहली पत्नी से अशोक व एक बहन है वंहीं दूसरी पत्नी से दो पुत्र व पुत्रियां है। अशोक अपनी पत्नी के साथ पिता से अलग रहता है।

Back to top button
error: Content is protected !!