fbpx
प्रयागराजराज्य/जिलाशिक्षा

अंतर जिला तबादला की राह देख रहे शिक्षक हो सकते हैं निराश

प्रयागराज। अंतर जिला तबादला की राह देख रहे बेसिक शिक्षा परिषद के अधिकांश शिक्षकों को निराशा हो सकती है। वैसे तो जिलों में रिक्त 44 हजार पदों के सापेक्ष 54 हजार को अनुमति दी गई है। लेकिन स्थानांतरण की कठिन शर्तों के चलते अधिकांश की यह मुराद पूरी नहीं हो सकेगी।
बेसिक शिक्षा परिषद की ओर से दो दिसंबर 2019 को तबादला नीति जारी की गई थी। 20 दिसंबर से आनलाइन आवेदन लिए गए। 70 हजार 838 शिक्षकों ने अंतिम रूप से आवेदन किया था। इसके बाद परिषद ने जिलों में रिक्त पदों की सूची जारी की। जिसके अनुसार प्राथमिक स्कूलों में प्रधानाध्यापक के 453, सहायक अध्यापक के 28268 और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में प्रधानाध्यापक के 816 और सहायक अध्यापक के 14379 पद खाली थे।

कठिन शर्तें बनेंगी राह का रोड़ा

तकरीबन 44 हजार रिक्त पदों के सापेक्ष 54 हजार को स्थानांतरण की अनुमति दी गई है लेकिन कठिन शर्तें राह में रोड़ा बन सकती है। आकांक्षात्मक जिलों चंदौली, फतेहपुर, चि़त्रकूट, बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, श्रावस्ती, बहराइच, सोनभद्र में उतने ही शिक्षकों को अन्यत्र तबादला होगा जितने शिक्षक इन जिलों में आने का अनुरोध करेंगे। जबकि अन्य शर्तों में शिक्षक का तीन और शिक्षिका का एक वर्ष की सेवा पर तबादला होगा, दिव्यांग पुरुष और महिला शिक्षकों को सेवा अवधि से छूट मिलेगी। जिले में स्वीकृत पदों के सापेक्ष 15 प्रतिशत की सीमा तक ही तबादले होंगे और गुणवत्ता अंक समान होने पर अधिक आयु वर्ग के शिक्षक को वरीयता दी जाएगी।

On The Spot

खबरों के लिए केवल पूर्वांचल टाइम्स, अफवाहों के लिए कोई भी। हम पुष्ट खबरों को आप तक पहुंचाने के लिए संकल्पिक हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button